लखनऊ- देवरिया में वेश्यावृत्ति का मामला सामने आने के बाद हरदोई के स्वाधार गृह से 19 महिलाएं गायब - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 7 August 2018

लखनऊ- देवरिया में वेश्यावृत्ति का मामला सामने आने के बाद हरदोई के स्वाधार गृह से 19 महिलाएं गायब








यूपी में देवरिया के शेल्टर होम में लड़कियों से वेश्यावृत्ति करवाए जाने का कथित मामला सामने आने के बाद अब हरदोई के बेनीगंज में निराश्रित महिलाओं के लिए संचालित स्वाधार गृह में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। यहां शेल्टर होम से 19 महिलाएं गायब हैं। इसका खुलासा तब हुआ जब डीएम पुलकित खरे शेल्टर होम का निरीक्षण करने पहुंचे।

पुलकित खरे ने यहां का रजिस्टर देखा तो उसमें 21 महिलाओं के नाम दर्ज थे, जबकि मौके पर सिर्फ दो ही महिलाएं थीं। डीएम ने शेल्टर होम का अनुदान तत्काल रोकने की सिफारिश की है। सोमवार को डीएम पुलकित खरे टीम के साथ बेनीगंज स्थित स्वाधार गृह पहुंचे थे।

किसी को नहीं पता, कहां हैं 19 महिलाएं

यह शेल्टर होम निराश्रित महिलाओं के लिए आयशा ग्रामोद्योग समिति मोहल्ला लोहानी पिहानी संचालित करती हैं। डीएम ने यहां पहुंचकर पूरे शेल्टर होम का निरीक्षण किया। इस दौरान डीएम को यहां बहुत सी खामियां मिलीं।

चौंकाने वाली बात यह रही कि जब डीएम ने यहां के दस्तावेज देखे तो उसमें 21 महिलाओं के नाम दर्ज थे। उन्होंने पूछा कि शेल्टर होम में तो उन्हें सिर्फ दो महिलाएं ही मिलीं, बाकी महिलाएं कहां हैं? मौके पर मौजूद अधीक्षिका इस बात का कोई जवाब नहीं दे सकीं। डीएम ने महिलाओं से पूछा तो उन्होंने भी कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। कई दिनों से सिर्फ वही दो महिलाएं शेल्टर होम में हैं।

डीएम ने पाया कि शेल्टर होम में पर्याप्त कमरे, बर्तन आदि की व्यवस्था भी नहीं थी। शेल्टर होम की अधीक्षिका की ओर से भी स्पष्ट उत्तर नहीं मिला। इस पर डीएम ने स्वाधार गृह संस्था पर कार्यवाई करने और संस्था का तत्काल अनुदान रोकने की संस्तुति शासन को भेज दी है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।