उन्नाव - शांत नही हम मौन है, 2019 में बताएंगे हम कौन है पोस्टरों के माध्यम से दर्द देखने को मिला - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 22 October 2018

उन्नाव - शांत नही हम मौन है, 2019 में बताएंगे हम कौन है पोस्टरों के माध्यम से दर्द देखने को मिला

रिपोर्ट उन्नाव - विशाल सिंह 

विवेक तिवारी हत्याकांड के बाद जिस तरह से पुलिस कर्मियो ने सिपाही पर कार्यवाई को लेकर कई दिन काली पट्टियां बाँध कर विरोध प्रदर्शन किया लेकिन वो मामला लगभग शांत ही हो चुका था लेकिन आज फिर से उन्नाव में शासन की नीतियों के विरोध में पोस्टर चस्पा किये गए । हालांकि ये पोस्टर किसने लगाए इसका कुछ पता नही चल पाया । 


पोस्टर में पुलिस परिवार ने शासन की नीतियों पर सवाल उठाये है । इनमे 2019 के चुनाव में पुलिस का दर्द समझने वालों को ही वोट दिए जाने की बात कही गई है । तबादला नीति और अवकाश को लेकर पुलिस कर्मियों का इन पोस्टरों के माध्यम से दर्द देखने को मिला इनमे साफ तौर पर लिखा गया है की शांत नही हम मौन है, 2019 में बताएंगे हम कौन है- पीड़ित पुलिस परिवार ,जैसे कई स्लोगन पोस्टर में लिखकर चेतावनी दी गई है । 

वही पोस्टर लगने की सूचना पर पूरे पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया और पोस्टर को उखाड़ने के त्वरित आदेश दे दिए गए जिसके बाद पोस्टर उखाडने का अभियान भी जोरो से चला वही एल आई यू व खुफिया विभाग की टीमो को लगाकर पुलिस प्रशासन पोस्टर चपकाये जाने वालों की तलाश में जुट गई है लेकिन अभी तक कोई सुराग नही मिल पाया है ।


 
हाँ आज जहाँ उन्नाव जनपद में पुलिस विभाग द्वारा पुलिस स्मृति दिवस मनाया जा रहा था तो वही दूसरी ओर किसी अज्ञात पुलिसकर्मी द्वारा अपनी मांगो को लेकर शहर के कई मार्गो पर सरकार के विरोध व अपनी मांगों को पूरी करने हेतु एक पोस्टर अभियान चला दिया । 

अभियान बड़ी ही गोपनीयता से अंजाम दिया गया । खाकी का सरकार विरोध में पोस्टर अभियान को देख कप्तान तत्काल हरकत में उतर आए और समूचा पुलिस बल पोस्टरों को उखड़वाने लगा । शहर के हर मार्ग पर खाकी नजर बनाये है कि खाकीधारी कही पोस्टर न लगा दे । पुलिसकर्मीयो की मांग तो जायज है चाहे वह वेतन विसंगति हो या फिर बॉडर स्कीम हड़ताल कर नही सकते नारे प्रदर्शन कर नही सकते करे तो क्या करे । उनका भी मानवाधिकार है । 



उनके भी परिवार है अपना समय परिवार को न दे पाने से परिवार तनावमुक्त नही हो पा रहे । सरकार का विरोध है तो अधिकारी सख्ती अपनाये है लेकिन उन्हें जमकर वेतन व सुविधा मिल रही है उन्हें एक साथ मिलकर सरकार के प्रमुख तक उनकी बात पहुचानी चाहिए । बहरहाल दरोगाओं ने पोस्टर शहर से चंद घण्टो में गायब कर दिए । अब देखना होगा कि आगे क्या होता है वही उन्नाव के सीओ सिटी इस मामले में जांच की बात कहते हुए उन्नाव पुलिस की शान में कसीदे पढ़ रहे है

उमेश चंद्र त्यागी(सीओ सिटी) आज जनपद उन्नाव में पुलिस से सम्बंधित कुछ कंप्यूटर से छापे हुए पेपर दो तीन स्थानों पर चस्पा किये गए है जिसके सम्बन्ध में जांच की जा रही है की किन तत्वों द्वारा ये पेपर चस्पा किये गये है आसपास के सीसीटीवी कैमरे व अन्य सूत्रों के माध्यम से इस सम्बन्ध में जांच की जा रही है जनपद उन्नाव में पुलिस बल अनुशासित एवं अपने कर्तव्यों के प्रति लगनशील एवं कर्मठ है

No comments:

Post a Comment