इस अस्पताल में गर्भवती महिलाओं का होता है ये अंजाम, जानकर खौफ खाएंगे आप - कानपुर देहात - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 16 October 2018

इस अस्पताल में गर्भवती महिलाओं का होता है ये अंजाम, जानकर खौफ खाएंगे आप - कानपुर देहात

रिपोर्टर कानपुर - अरविन्द शर्मा

खुशियों की आस लेकर गए थे। फिर रोने बिलखने की आवाज़ों के सिवाय कुछ नहीं सुनाई दे रहा था। अस्पताल में अचानक मातम सा छा गया। दरअसल हम बात कर रहे हैं कानपुर देहात में धड़ल्ले से संचालित हो रहे निजी अस्पताल व नर्सिंग होम की। जहां आये दिन प्रसूताओं व नवजात शिशुओं की मौत हो रहीं हैं लेकिन जिला प्रशासन फिर भी नींद से नही जागा है। इसके चलते आज एक बार फिर एक गर्भवती महिला प्राईवेट हास्पिटल की कार्यशैली और उनके झोलछाप डॉक्टर के हाथों मौत का शिकार हो गई। जब आप इस अस्पताल में प्रसव की कहानी सुनेंगे तो दंग रह जाएंगे, जहां गर्भवती महिलाओं का प्रसव नही बल्कि सजा-ए-मौत दी जाती है।



ताजा मामला कानपुर देहात के थाना अकबरपुर क्षेत्र के अंजली हॉस्पिटल का है, जहाँ पर आज एक गर्भवती महिला रेनू की मौत हो गई। लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिजनों ने हंगामा किया तो सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंच गई। जानकारी पर खास बात ये सामने आई है कि इस हॉस्पिटल में गर्भवती महिला का प्रसव कुछ अलग ही ढंग से किया जा रहा था, जिसे सुनकर आपके भी होश उड़ जाएंगे। मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि इस हॉस्पिटल में हैवानों सा बर्ताव प्रसूता के साथ किया जाता है। यहां गर्भवती महिलाओं का प्रसव हाँथ पैर बांधकर व थप्पड़ मारकर करवाया जाता था।

मानकों की मानें तो न तो इस हॉस्पिटल का रजिस्ट्रेशन था, न ही फायर एनओसी थी लेकिन अपने तरीके से अधिकारियो की मिलीभगत के चलते इस हॉस्पिटल में खुला मौत का खेल चलता था। देखा जाए तो जिले के अधिकारियों के नाक के नीचे ऐसे हॉस्पिटल खुलेआम चल रहे हैं, जो इलाज के नाम पर आम इंसान को मौत देते है। आये दिन इन झोलछाप डाक्टर के इलाज से कोई न कोई मौत का शिकार हो जाता है। इस संबंध में जिले के मुखिया से पूंछे जाने इस पूरे मामले में जिले के जिलाधिकारी ने जांच कराकर कार्यवाही की बात कही है

No comments:

Post a Comment