बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ क्या इन के शासनकाल में बेटियां और नारियां सुरक्षित हैं - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 12 October 2018

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ क्या इन के शासनकाल में बेटियां और नारियां सुरक्षित हैं

चीफ रिपोटर up -चन्द्र मोहन तिवारी

आज लखनऊ गाँधी प्रतिमा हजरतगंज पर रेप पीड़िता मां बेटी कि प्रशासन से गुहार प्राथिनी ने बताया कि पति धीरज एवं उसके भाई वा भतीजे पिछले 10 वर्षों से पुलिस के साथ साठगांठ करके झूठे केस में फंसा रहे हैं और उत्पीड़न कर रहे हैं


जिसमें स्थानीय पुलिस भी मिली हुई है कोर्ट के निर्णय से प्राप्त घर छीनने की मंशा से पुलिस द्वारा साठगांठ करके धारा 307 और अन्य धाराओं में एफ आईआर संख्या 0297 दर्ज करवा दी गई है जो उसके साथ वा उसकी बेटी के साथ बलात्कार के प्रयास को दबने के लिए किया गया

थाना प्रभारी के के वर्मा एसएसआई ,सुरेंद्र मलिक और थाने के अन्य सिपाहियों ने प्राथिनी के बच्चों के साथ मारपीट की और प्राथिनी किसी भी अधिकारी के समक्ष अपनी केस से अवगत कराने गई तो पति धीरज एवं उसके भाई वा भतीजे लोगों ने आला अधिकारियों को गलत सूचना देकर मेरी    एफ आईआर. को दबाया गया और मुझे गलत तरीके से थाने में पूरी रात बैठाया गया !

वही पीड़िता वैशाली शर्मा ने बताया की मुझे कहीं न्याय नहीं मिल रहा है कृपया मुझे शासन से न्याय दिलवाया जाए विशेषकर योगी सरकार से मेरी प्रार्थना है कि मुझे समुचित न्याय दिलाने की कोशिश करे 

भाजपा सरकार का यह नारा है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ क्या इन के शासनकाल में बेटियां और नारियां सुरक्षित हैं

No comments:

Post a Comment