अभी तक 20 माह बिना कोई काम किए निरर्थक ही गुजार दिये हैं - अखिलेश यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 16 November 2018

अभी तक 20 माह बिना कोई काम किए निरर्थक ही गुजार दिये हैं - अखिलेश यादव

लखनऊ - महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा की राज्य सरकार द्वारा राजधानी के चक गंजरिया (सीजी सिटी) में नया विधानसभा भवन और सचिवालय भवन बनाने का कथित प्रस्ताव जनता को धोखा देने और अपनी विफलताओं पर पर्दा डालने का कुत्सित प्रयास है। 



शहर में कानून व्यवस्था पर नियंत्रण न कर पाने से खिसियायी भाजपा अब इसी बहाने शहर से बाहर जाने की सोच रही है ताकि जनता से पर्याप्त दूरी बनाकर अपने कारनामें छुपा सके। जनता अपनी समस्याओं और परेशानियों को लेकर भाजपा सरकार को घेर नहीं सके और रोम का नीरो निश्चिंत होकर अपनी बांसुरी बजाता रह सके।

यादव ने कहा भाजपा की राज्य सरकार का एक तिहाई समय बीत चुका है। अब उसकी सत्ता से रवानगी के लिए मात्र 40 माह ही बचे हैं। अभी तक 20 माह बिना कोई काम किए निरर्थक ही गुजार दिये हैं। इस अवधि में भाजपा सरकार की अपनी तो कोई जनहित की योजना सामने नहीं आई, बस समाजवादी सरकार के ही समय के जिन कार्यों का उद्घाटन हो चुका था उनका ही उद्घाटन करने में समय बिताती रही है। जिन विकासकार्यों का समाजवादी सरकार में शिलान्यास हो चुका था उनका भी दोबारा शिलान्यास भाजपा सरकार कर रही है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा यह तो सभी जानते हैं कि समाजवादी सरकार के ही समय चक गंजरिया क्षेत्र के विस्तार और विकास का कार्य हुआ था। वहां कैंसर संस्थान, विष्वस्तरीय इकाना स्टेडियम, अवधशिल्प ग्राम, शाने अवध, संस्कृति स्कूल, पुलिस मुख्यालय का नया भवन, स्थानीय निकाय का निदेशालय भवन, एच.सी.एल. की आई.टी.सिटी, आई.आई.आई.टी, अमूल दुग्ध प्लांट तथा अन्य कई योजनाओं का शिलान्यास हुआ था। समाजवादी सरकार रहती तो अब तक इस क्षेत्र में विकास का और विस्तार हो जाता। 
भाजपा की राज्य सरकार सुरक्षा का जो बहाना बना रही है वह सिर्फ बहकाने वाली बात है। सच तो यह है कि भाजपा राज में घोर अराजकता व्याप्त है। अपराधों की बाढ़ रूकने का नाम नहीं ले रही है। पुलिस का मनोबल काफी गिरा है और अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब राजधानी लखनऊ सहित अन्य जनपदों में भी लूट, हत्या, अपहरण की वारदातें नहीं होती हो। मुख्यमंत्री चाहे जितने बयान दें न तो अपराध रूक रहे हैं और नहीं बाहर से पूंजीनिवेश आ रहा है। व्यापारी, सर्राफ लूट के शिकार हो रहे हैं।
लुटेरे पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। आज भी फर्जी एनकाउण्टर से लोग डरे हुए हैं। महिलाएं एवं बच्चियां असुरक्षित हैं। देश में ही नहीं विदेशों तक में उत्तर प्रदेश की बदनामी भाजपा सरकार ने करा दी है। जनविरोधी, विकास विरोधी भाजपा सरकार से जितनी जल्दी हो निजात पाने के लिए प्रदेश के मतदाता व्याकुल हैं।

No comments:

Post a Comment