कानपुर - कमल सन्देश बाइक यात्रा में यातायात नियमों की भाजपा कार्यकर्ताओं ने उड़ाई जमकर धज्जियां - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 17 November 2018

कानपुर - कमल सन्देश बाइक यात्रा में यातायात नियमों की भाजपा कार्यकर्ताओं ने उड़ाई जमकर धज्जियां

 ब्यूरो कानपुर - रवि गुप्ता 
 
 
कानपुर के बृजेन्द्र स्वरूप पार्क से कमल सन्देश यात्रा निकाली जिसको केंद्रीय मंत्री उमा भारती और सूबे के कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।वहीं इस दौरान हज़ारो की संख्या में बाइक रैली में पहुंचे कार्यकर्ताओ ने कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाई जहां एक ही बाइक पर तीन सवारियां वो भी बिना हेलमेट के पहुंचकर एक बार फिर ध्वस्त कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी। 
 
 
आपको बता दें कि कमल सन्देश यात्रा में कुछ चौकाने वाले तथ्य सामने आए इस यात्रा में भीड़ जुटाने के लिए लोगो को 200- 200 रुपये में खरीद कर लाया गया इसका खुलासा खुद आये हुए यात्रा में शामिल लोगों ने किया।

 
 
 200 रुपये में कार्यकर्ताओं को बुलाया गया

बृजेन्द्र स्वरूप पार्क में भाजपा की कमल सन्देश बाइक यात्रा में केंद्रीय मंत्री उमा भारती और केबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी ने हरी झंडी दिखाकर इस यात्रा को रवाना किया वही इस सन्देश यात्रा में भाजपा के आए हुए कार्यकर्ताओ ने जमकर कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाई गयीं। जहां कार्यकर्ताओ की भीड़ के चलते और मंच के ऊपर किनारे खड़े होकर उमा भारती ने सुरक्षा कर्मियों के बीच ही रैली को रवाना किया इस दौरान उन्होंने कई बार मंच से नीचे उतरने की भी कोशिश भी की।
 
 
हज़ारो की तादाद में पहुंचे कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली बिना हेलमेट और तीन सवारियों के साथ निकाली जबकि सी एम् योगी ने कार्यकर्ताओ से अपील की थी सभी कार्यकर्ता इस सन्देश यात्रा में हेलमेट पहनकर यात्रा निकलेंगे इन कार्यकर्ताओ को तो अपने सीएम की बात का भी कोई फर्क नही पड़ा और जमकर कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाई।जब महिला कार्यक्रता से बात की गयी तो उसने रैली में हेलमेट न पहनने पर कहा रैली में हेलमेट की जरूरत नहीं थी तो किसी ने कहा कि हेलमेट आगे है यहां से रेली शुरू हुई है।
 
 उधर हद तो तब हो गयी इतनी भीड़ तो थी लेकिन क्या यह खरीदी हुई  भीड़ भी शामिल थी भीड़ में आये राम बाबू गुप्ता ने खुद बताया कि छावनी क्षेत्र के मंडल अध्यक्ष ने उसे 100 रुपये का पेट्रोल और 100 रुपये खाने का दिया था जिससे वह अपने एक अन्य साथी के साथ रैली में शामिल होने पहुंचा। इस रैली से एक बात तो साफ हो गयी कि इस तरह के भाड़े के टटू से ही इनकी भीड़ दिख रही है ऐसे में 2019 की डगर आसान न होगी इनके लिए

No comments:

Post a Comment