बस्ती / रुधौली - गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर मिल प्रबंधन का घेराव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 15 December 2018

बस्ती / रुधौली - गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर मिल प्रबंधन का घेराव

रिपोर्ट - राज आर्या

विधायक संजय प्रताप जायसवाल के निर्देश पर तहसील क्षेत्र के अठदमा स्थित बजाज शुगर मिल पर पहुंचकर सबसे पहले विधायक द्वारा निर्धारित किए गए प्रतिनिधिमंडल ने गन्ना किसानों से बात की और समस्याओं को लेकर मिल प्रबंधन का घेराव किया।

बाद में चार सूत्रीय मांगपत्र मिल प्रबंधन को सौंपा गया जिसमें गन्ना किसानों का पुराना बकाया मूल्य एक सप्ताह के भीतर दिए जाने, गन्ना तौल में किसानों का अगेती, सामान्य व रिजेक्ट के नाम पर किसानों का शोषण बंद करते हुए सभी प्रकार की गन्ने की खरीद किए जाने, पर्ची की समयसीमा बढ़ाने के नाम पर हो रही तीन सौ रुपये की वसूली को रोके जाने एवं शुगर मिल पर किसानों की सुविधा के लिए छाजन, अलाव, शुद्ध जल इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था कराए जाने की मांग की है। इस दौरान विधायक प्रतिनिधि महेंद्र सिंह, मंडल अध्यक्ष रामउग्रह जयसवाल, जयप्रकाश जायसवाल, जिला पंचायत सदस्य राजकुमार चौधरी, सभासद विकास पाण्डेय, गोपाल सिंह, संतोष पांडेय, मनोज ठाकुर, राजकुमार तिवारी, गंगा राम वर्मा, रामबचन, जुग्गीलाल, सुजीत सोनी आदि मौजूद रहे।

विधायक प्रतिनिधि विजय कुमार पांडेय राजू ने बताया कि तो पदयात्रा कार्यक्रम के दौरान लगभग सभी गांव में अठदमा स्थित बजाज शुगर मिल द्वारा किसानों के शोषण, अभद्रता व गन्ना खरीद में लापरवाही किए जाने की शिकायत में मिलटी रही हैं जिस के क्रम में शनिवार को क्षेत्रीय विधायक संजय प्रताप जायसवाल के के निर्देश पर गठित किए गए प्रतिनिधिमंडल व कार्यकर्ताओं किसानों के साथ मिल प्रबंधन का घेराव किया एवं समस्याओं को दूर करने के लिए अनंतिम रूप से चेतावनी दी।

मिल प्रबंधन की ओर से जीएम केन जेएम शुक्ला का कहना है कि शासन द्वारा पहले अगेती, फिर सामान्य और अंत में रिजेक्ट गन्ना खरीदने की व्यवस्था बनाई गई है और इसी क्रम गन्ना किसानों को पर्चियाँ भी एलाट की जाती है। शनिवार को गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर आए विधायक प्रतिनिधि विजय कुमार पांडेय राजू एवं अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं ने मेरे ऑफिस में घुसकर मेरे साथ अभद्रता की एवं सभी प्रकार के गन्ना खरीद के लिए दबाव बना रहे थे। समस्याओं के संबंध में जब हमने उच्चाधिकारियों को अवगत कराया तो उन्होंने भी शासनादेश के तहत गन्ना खरीद के लिए निर्देशित किया है। जहां तक रही मिल परिसर में किसानों को सुविधा देने के बाद तो मिल प्रबंधन की ओर से तत्काल सारी व्यवस्थाएं और दुरुस्त की जाएंगी।

No comments:

Post a Comment