प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर एवं प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर ने बसपा प्रमुख सुश्री मायावती के खिलाफ कार्यवाही की मांग की.. - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 9 April 2019

प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर एवं प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर ने बसपा प्रमुख सुश्री मायावती के खिलाफ कार्यवाही की मांग की..

महेन्द्र मिश्रा ब्यूरो

भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि मण्डल ने आज प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुश्री मायावती द्वारा मुस्लिमों को एकतरफा गठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील करने के खिलाफ चुनाव आयोग से जन प्रतिनिधित्व अधिनियम भारतीय दण्ड संहिता व आदर्श चुनाव संहिता का खुले उल्लघन का आरोप लगाते हुए कार्यवाई की मांग की है। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं प्रदेश चुनाव प्रबंधन प्रभारी जेपीएस राठौर और प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर एमएलसी के नेतृत्व में मुख्य चुनाव अधिकारी से मिले प्रतिनिधि मण्डल ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय द्वारा हस्ताक्षरित ज्ञापन के माध्यम से चुनाव आयोग से सुश्री मायावती के विरूद्ध समुचित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करने और उनके भाषणों पर पूर्णता प्रतिबंध लगाने की मांग की है। मुख्य चुनाव अधिकारी को ज्ञापन सौंपने के बाद पत्रकारों से संयुक्त रूप से वार्ता करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर एवं प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर ने कहा कि पार्टी ने बसपा प्रमुख सुश्री मायावती के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए कहा कि बसपा प्रमुख द्वारा आगे भी इसी प्रकार की भाषणबाजी करके चुनाव का महौल खराब करने व धार्मिक उन्माद फैलाने व मतदाताओं का धु्रवीकरण कराने की पूरी संभावना है इसलिए चुनाव आयोग तत्काल कदम उठाये।


प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राठौर ने कहा कि सपा-बसपा-रालोद का गठबंधन उ0प्र0 में अवसरवादी दलों का गठबंधन है जो जाति, धर्म और विद्वेश की राजनीति के साथ सत्ता हथियाना चाहते है। बसपा नेता जमीनी सच्चाई जानने के बाद हताश होकर ऐसे बयान दे रही है। उन्होंने कहा दलितों, शोषितो, वंचितों, गरीबों को वोट बैंक बनाकर हमेशा सत्ता में आने वाले ऐसे दलों का सच जनता जान गई है। उन्होंने कहा देश में एक बार फिर मोदी सरकार के संकल्प के साथ आमजन भाजपा के पक्ष में मतदान करेंगा। प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर ने कहा कि दलितों के नाम पर सियासत करने वाली मायावती अब दौलत की राजनीति कर रही हैं। बसपा प्रमुख को दलित हितो से कोई लेना-देना नहीं है। श्री सोनकर ने कहा कि दलित, शोषित, पीड़ित, वंचित बसपा प्रमुख की सच्चाई को जान चुका है इसीलिए 2014 के लोकसभा के चुनाव में प्रदेश में बसपा का खाता भी नहीं खुल सका। उन्होंने दावा किया एक बार फिर से जाति, धर्म और तुष्टीकरण के सहारे जीत का स्वप्न देख रही मायावती के हाथ हार ही लगेगी। भाजपा प्रतिनिधि मण्डल में सर्वश्री अखिलेश अवस्थी, प्रशान्त सिंह अटल, नितिन माथुर, प्रखर मिश्रा, आशीष शास्त्री आदि शामिल थे।

No comments:

Post a Comment