कानपुर देेेहात - लंबे अरसे से सपा के खाते में रही इस वीआईपी सीट को बीजेपी ने छीना, इस पर बीजेपी की महिला नेता ने कहा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 25 May 2019

कानपुर देेेहात - लंबे अरसे से सपा के खाते में रही इस वीआईपी सीट को बीजेपी ने छीना, इस पर बीजेपी की महिला नेता ने कहा

जिला संवादाता अरविन्द शर्मा

कानपुर देहात-लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी का ऐसा आगाज हुआ कि कई राजनीतिक दलों के दिग्गज नेताओं के छक्के छूट गए। 2014 के बाद के बाद एक बार फिर मोदी लहर का प्रचंड रूप देखने को मिला। कानपुर देहात की रसूलाबाद विधानसभा की वीआईपी मानी जाने वाली लोकसभा कन्नौज से सपा गठबंधन से पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी सांसद डिम्पल यादव दोबारा इस सीट से मैदान में थीं। वहीं उनके सामने पूर्व में शिकस्त खाये बीजेपी से सुब्रत पाठक को फिर से बीजेपी ने टिकट देकर मैदान में उतारा था। एक तरफ डिम्पल यादव तो दूसरी तरफ सुब्रत पाठक दोनों प्रत्याशियों के 2014 के बाद दोबारा आमने सामने और वीआईपी सीट के चलते जनपद सहित पूरे प्रदेश की नजर इस सीट पर टिकी थी।
 

प्रदेश की इस वीआईपी सीट पर हुई कांटे की टक्कर

मतगणना के प्रत्येक राउंड में कांटे की टक्कर में दिन भर चली उठापटक के चलते प्रत्याशियों के समर्थकों के चेहरे से पसीना नहीं सूखा। देर रात अंतिम चरण में मतगणना पहुंचने पर 12353 मतों से जीत सुनिश्चित हो सकी। वहीं डिम्पल यादव को हार का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि विगत वर्ष भाजपा की चली आंधी में कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने पाला बदलकर भाजपा का दामन थाम लिया था। इसके तहत बसपा से रसूलाबाद विधानसभा से 2017 में चुनाव हारी पूनम संखवार ने भाजपा का दामन थाम लिया था। बीते दिन सुब्रत पाठक की जीत के बाद उन्होंने रसूलाबाद कस्बा स्थित विख्यात शिव मंदिर धर्मगढ़ मंदिर में मत्था टेकते हुए मतदाताओं को कोटि कोटि बधाई दी।

बोलीं पार्टी के निर्णय पर हम लोग करते हैं काम

पूँछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह जीत सुब्रत पाठक की नहीं बल्कि क्षेत्र के मतदाताओं की जीत है, जिन्होंने दिन रांत मेहनत की है, जनता ने हमारे प्रधानमंत्री जी के कार्यों पर विश्वास किया है। वादे तो बहुत किये जाते हैं कि 72000 देंगे लेकिन असलियत में दिया तो प्रधानमंत्री जी ने बिना कहे पहले ही जनता को शौंचालय, कालोनी, किसान पेंशन सहित अन्य लाभ दे दिए। इस जनता की दम पर हम लोगों ने इस सीट को, जो वंशवादी सपा के खाते में जाती थी, उसे छीनकर प्रधानमंत्री जी की झोली में डाला है। वहीं आगामी लोकसभा चुनाव 2022 में उतरने की बात पर उन्होंने कहा कि ये हमारा कोई निर्णय नही है, जो हमारी पार्टी हाईकमान प्रधानमंत्री जी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्णय लेते हैं, वही यहां होता है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।