वाराणसी - मां गंगा का हुआ दुग्धा अभिषेक, चढ़ी आर पार की माला - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 12 June 2019

वाराणसी - मां गंगा का हुआ दुग्धा अभिषेक, चढ़ी आर पार की माला

ब्यूरो वाराणसी कैलाश सिंह विकास

 गंगा दशहरा पर बुधवार को अस्सी घाट पर रामेश्वर मठ, स्वामी नारायणनंद तीर्थ वेद विद्यालय एवं जागृति फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में मां गंगा को वेद मंत्रों के बीच दुग्धा  अभिषेक किया गया, साथ ही मां गंगा को आर पार की माला चढ़ाई गई। दुग्धा  अभिषेक समारोह का शुभारंभ मुख्य अतिथि रामेश्वर मठ स्वामी नारायणनंद तीर्थ के उत्तराधिकारी  शिष्य साधक स्वामी लखन स्वरूप ब्रह्मचारी जी  एवं रामेश्वर मठ के प्रबंधक वरुणेश चंद दीक्षित ने वेद मंत्रों के साथ मां गंगा का दुग्धा अभिषेक  करके किया दुग्धा अभिषेक में स्वामी नारायणनंद तीर्थ वेद विद्यालय के दर्जनों बटुक भी शामिल हुई, वेद मंत्रों के साथ मां गंगा का विधि विधान से दुग्धा अभिषेक किया गया,उन्हें 21 लीटर दूध से अभिषेक करने के पश्चात माला फूल अर्पित कर उनका पूजन कर आरती की गई ।इसके  इसके पश्चात मां गंगा को आर पार की माला चढ़ाई गई। इस अवसर पर साधक लखन स्वरूप ब्रह्मचारी ने कहा कि आज मां गंगा का अवतरण दिवस है जिसे हम गंगा दशहरा के नाम से भी जानते हैं 
 

 आज ही के दिन मां गंगा राजा भगीरथ के पुरखों को तारने के लिए धरती पर अवतरित हुई थी और तभी से लोगों के पाप का नाश करते करते इस समय खुद ही अपने मुक्ति की आस जो रही है, हमने मां गंगा को कूड़ा कचरा का ढेर बना दिया है, इसमें अपना मल मूत्र भी बहते  हैं। आज मां गंगा प्रदूषित होकर कराह रही है और खुद ही अपने कलयुग ही पुत्रों से गुहार लगा रही हैं कि उन्हें प्रदूषण मुक्त करें। इस अवसर पर जागृति फाउंडेशन के महासचिव रामयश मिश्र ने कहा कि आज जरूरत है मां गंगा को प्रदूषण मुक्त कर उन्हें अविरल और निर्मल करने की अगर मां गंगा नहीं रहे तो हमारे जीवन में पीने के पानी का संकट उत्पन्न हो जाएगा। आज बनारस में चारों तरफ पानी के लिए हाहाकार मचा है अगर मां गंगा नहीं रहेंगे तो स्थिति और भी भयावह हो जाएगी । कार्यक्रम का संचालन रामयश मिश्र ने किया। इस अवसर पर योगेश कुमार तिवारी, आसाराम बापू, अंकित, पंकज मिश्रा सहित सैकड़ों बटुक उपस्थित थे। धन्यवाद रामेश्वर मठ के प्रबंधक वरुणेश चंद्र दीक्षित ने किया। भवदीय रामयश मिश्र

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।