फर्रुखाबाद - भाजपा सरकार की नीतियों और कार्यप्रणाली के विरोध में एक दिवसीय धरना का आयोजन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 10 August 2019

फर्रुखाबाद - भाजपा सरकार की नीतियों और कार्यप्रणाली के विरोध में एक दिवसीय धरना का आयोजन


जिला संवाददाता - पुनीत मिश्रा 

फर्रुखाबाद में  समाजवादी पार्टी ने सत्ता छिनने के लम्बे समय के बाद भाजपा सरकार की नीतियों और कार्यप्रणाली के विरोध में एक दिवसीय धरना का आयोजन किया। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के बाहर सड़क के किनारे पटरी पर तम्बू लगाकर सभा का आयोजन किया गया ।इस धरने में एक सैकड़ा सपाइयों को भी इकट्ठा नहीं कर पाए । उसके बाद जिला प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल  को 27 बिन्दुओ के जम्बो मांगपत्र  भेजने के लिए ज्ञापन सौपा गया। समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव डॉ।जितेन्द्र सिंह यादव ने केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार पर गिन-गिन कर हमले किये। उन्होंने कहा भाजपा की कथनी और करनी में अन्तर है। दोहरा मापदण्ड अपनाने वाली भारतीय जनता पार्टी सिर्फ सत्ता के लिए राजनीति करती है। अनुच्छेद 370 हटाने का तरीका बिल्कुल गलत है। विपक्ष और कश्मीर की आवाम की भावना का भी सम्मान होना चाहिए था।उन्होंने कहा प्रदेश सरकार में किसान परेशान है, जबकि सरकार कुछ नहीं कर रही है। फर्रुखाबाद में आलू किसान, गन्ना किसान परेशान है। फसल का वाजिब मूल्य नहीं मिल रहा। सत्तारूढ़ दल के लोग जमीनों पर कब्जा कर रहे हैं, लोगों का उत्पीडऩ कर रहे हैं। कानून व्यवस्था का मखौल बन गया है। डॉ।जितेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। और तो और भाजपा के विधायकों का चरित्र भी दागदार है। उन्नाव की बेटी के केस को अब तक प्रदेश सरकार दबाये रखे रही। भाजपा कहती है उसकी कथनी और करनी में कोई अन्तर नहीं, लेकिन हकीकत इससे परे है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।