फर्रुखाबाद में एक रेप पीडित छात्रा ने धमकाये जाने का लगाया आरोप - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 10 August 2019

फर्रुखाबाद में एक रेप पीडित छात्रा ने धमकाये जाने का लगाया आरोप



जिला संवाददाता - पुनीत मिश्रा

फर्रुखाबाद  में एक पीडित छात्रा ने योगी सरकार की पुलिस पर यौन उत्पीडन कर रिवाल्वर से धमकाये जाने का आरोप लगाया है। थाना कमालगंज के ग्राम फतेहपुर राव साहब निवासी इंटर की नावालिग छात्रा ने सूबे के पुलिस महानिदेशक आदि अधिकारियों को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई किये जाने की फरियाद की है। छात्रा ने आरोप लगाया कि गांव के वीरेन्द्र उर्फ विजय कुमार ने अपनी चचेरी भाई कल्पना पत्नी विमलेश कुमार के सहयोग से मुझे 3 माह पूर्व प्रेमजाल में फंसा लिया। विजय ने कल्पना के सहयोग से उसी के घर पर मेरे साथ कई बार दुष्कर्म किया। 3 जून को मुझे जनजाली नगला घाट पर गंगा नहाने के बहाने ले जाया गया। कल्पना व गांव के विक्रम पुत्र जवाहरलाल व विजय के बहनोई इन्द्रेश निवासी ग्राम मुडई थाना बेबर एवं थाना कमालगंज के ग्राम मिर्जा नगला निवासी डा0 मनोज कुमार मुझे फर्रूखाबाद बस स्टेशन ले गये। वहां मौजूद विजय इन्द्रेश व डा0 मनोज बस द्वारा दिल्ली ले गये। विजय दिल्ली से मुझे जयपुर राजस्थान और वहां से एटा रिश्तेदारी में ले गया। एटा के आर्य समाज मंदिर में विजय ने शादी की। इन्द्रेश ने एमएस शिक्षा निकेतन जूनियर हाईस्कूल विशुनगढ से मेरा बालिग होने की फर्जी टीसी बनवाई।  इन्द्रेश मुझे कानपुर ले गये और दादा नगर में लोहे की फैक्ट्री में कमरा दिलाकर छोड दिया। इस दौरान इन्द्रेश व डा0 मनोज कानपुर गये। जिन्होने भी मेरे साथ जबरन दुष्कर्म किया। मुझे कमरे में बंधक बनाकर रखा गया। विजय व उसका भाई कौशल 19 जुलाई को सुबह श्रंगीरामपुर रेलवे स्टेशन ले गये। विजय ने वहां मौजूद भोजपुर चौकी इंचार्ज हरेन्द्र सिंह को 50 हजार रूपये दिये।चौकी इंचार्ज ने विजय व उसके भाई को भगा दिया। चौकी इंचार्ज मुझे भोजपुर चौकी ले गये। वहां कमरे में बंद कर चौकी इंचार्ज ने अर्धनग्न कर दिया और मेरे साथ अश्लील हरकते की। कनपटी पर रिवाल्वर लगाकर धमकाया कि मेरे हिसाब से बयान दो। मुझे थाना कमालगंज ले जाया गया। थाने की सिपाही रीना राजपूत मुझे अदालत ले गई। वहां मैने 19 जुलाई को पुलिस के भय से मजिस्ट्रेट के सामने चौकी इंचार्ज के द्वारा बताये गये बयान दिये। मै माता पिता से नाराज होकर कमालगंज में सहेली के घर चली गई। उसके बाद मुझे बाल कल्याण समिति के हवाले किया गया। पूर्ण होश में आने पर मुझे झूठे दिये गये बयान पर अफसोस जाहिर हुआ।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।