भारत सहित अन्य देशों में मनाया जा रहा है आनंद मार्ग के प्रवर्तक श्री आनंदमूर्ति जी का जन्म दिवस - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 7 May 2020

भारत सहित अन्य देशों में मनाया जा रहा है आनंद मार्ग के प्रवर्तक श्री आनंदमूर्ति जी का जन्म दिवस

कृपा शंकर चौधरी

भारत सहित अन्य देशों में मनाया जा रहा है आनंद मार्ग के प्रवर्तक श्री आनंदमूर्ति जी का जन्म दिवस

विश्व के कई देशों में फैले आनंद मार्ग के अनुयायियों द्वारा आज के दिन को आनंद पूर्णिमा के रूप में मनाया जा रहा है। आज के ही दिन सन 1921 मे आनंद मार्ग’ की स्थापना करने वाले श्री श्री आनंदमूर्ति जी का जन्म जमालपुर, बिहार में हुआ था। कहते हैं उनके जन्म के समय सूर्य उदय हो रहा था, इसलिए उनका नाम अरुण रख दिया गया। बाद में उन्हें प्रभात रंजन के नाम से जाना गया, जिन्होंने अपने जीवन एक शुरुआती पड़ाव में अध्यात्म के ज्ञान को समझा। इन्हें इनके अनुयायी ‘बाबा’ के नाम से सम्मानित करके पुकारते हैं।
अथाह ज्ञान के भंडार आनंदमूर्ति जी के द्वारा ब्रम्हांड के समस्त चर अचर को को ध्यान में रखकर एक नया दर्शन दिया गया है। इसके अलावा समाज एवं मनुष्य के सर्वांगीण विकास के लिए अलग अलग दिशानिर्देश दिये गए है। ज्ञान के समस्त क्षेत्रों मे व्याप्त कमियों को उजागर करते हुए उनके द्वारा तथ्यों सहित निराकरण किया गया है।
आनंदमूर्ति के अनुयायियों द्वारा प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी जन्मदिवस मनाया जा रहा है किंतु सरकार के द्वारा कोरोना के मद्देनजर स्पष्ट दिशानिर्देश के कारण 100वां जन्मदिन सोच के अनुरूप नहीं मन पाएगा। बताया गया कि इस दिन आनंदमार्गियों द्वारा बड़े पैमाने पर कीर्तन साधना, लंगर आदि की व्यवस्था की जाती है। दिशानिर्देश के अनुरूप मार्गियों द्वारा अपने घर पर रह कर जन्मदिवस मनाया जा रहा है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।