रेप और हत्या के आरोपी की पुलिस बनी रखैल,धन्य है न्याय और धन्य है सरकार, - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 7 June 2020

रेप और हत्या के आरोपी की पुलिस बनी रखैल,धन्य है न्याय और धन्य है सरकार,

लखनऊ ब्यूरो

रेप और हत्या के आरोपी की पुलिस बनी रखैल,धन्य है न्याय और धन्य है सरकार, 

लखनऊ। सरकार किसी की हो लेकिन पिसना गरीब और मजलूम के ही भाग्य मे लिखा है। आलम यह है कि अपराधी अपराध कर रहा है और जिसे अपराध रोकने की जिम्मेदारी दी गई वह अपराधी की मदद । इससें वह गरीब और नीरीह जिसे सरकार और प्रशासन से न्याय की उम्मीद थी अब आरोपी द्वारा जान से मारने के धमकी के बाद दहशत मे है। 
मामला ललितपुर के तेरई फाटक गांव की है जहां चार अप्रैल को ऐसी घटना घटी जिसे सूनने के बाद आप कहेंगे की मानवता नस्ट हो चुकी है और कानून अपराधियों की बन कर रह गई है। बताना चाहूंगा गांव में रहने वाले कृपाल यादव की 15 साल की बेटी कृष्णा यादव का उसी के पड़ोस में रहने वाले ग्राम प्रधान अशोक यादव ने रेप किया और फंसने की स्थिति में मिट्टी के तेल छिड़क कर जिंदा जला दिया। लगभग अस्सी प्रतिशत जल चुकी कृष्णा को परिवार के लोग लेकर अस्पताल गए इस दौरान ग्राम प्रधान के लोग वहां मौजूद रहे और आधा से ज्यादा जल चुकी कृष्णा को कुछ बताने पर उसके मां बाप को मारने की धमकी दी गई। सिविल अस्पताल मे कृष्णा की स्थिति और बिगड़ती देख अस्पताल से उसे झांसी हास्पिटल को ले जाया गया किन्तु यहां के डाक्टरों द्वारा ग्वालियर बर्न हास्पिटल रेफर कर दिया गया। यहां पर कृष्णा ने पुलिस और डाक्टर के उपस्थिति में परिवार के लोगों को बताया कि उसने साथ पहले प्रधान अशोक चाचा द्वारा रेप किया गया और उसके बाद रचना चाची के साथ मिलकर मिट्टी का तेल छिड़क कर आग लगा दी गई। अस्पताल मे 14 दिनों तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद कृष्णा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। इसके बाद कृष्णा के पिता कृपाल यादव द्वारा तेरई फाटक थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई किन्तु प्रधान की केवल सुनने वाले थाने द्वारा रेप और जलाकर मारने के धारा की जगह 354,506 लगाया गया और दो दिनों के बाद ही अपराधी न्याय व्यवस्था को रौंदते हुए बाहर निकल आया। स्थिति अब यह है कि गरीब न्याय पाने की जगह जान से मारने की धमकियां पा रहा है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।