गोण्डा :जेसीबी से तालाब की खुदाई कराना पड़ा महंगा,सचिव संस्पेन्ड,रोजगार सेवक की सेवा समाप्त ग्राम प्रधान की पावर सीज करने की नोटिस - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 15 June 2020

गोण्डा :जेसीबी से तालाब की खुदाई कराना पड़ा महंगा,सचिव संस्पेन्ड,रोजगार सेवक की सेवा समाप्त ग्राम प्रधान की पावर सीज करने की नोटिस

राकेश सिंह 

गोंडा

जेसीबी से तालाब की खुदाई कराना पड़ा महंगा,सचिव संस्पेन्ड,रोजगार सेवक की सेवा समाप्त ग्राम प्रधान की पावर सीज करने की नोटिस

 जेसीबी मालिक सहित चार लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज।

मनरेगा में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ डीएम ने जारी किया रिकवरी आदेश

मनरेगा कार्यों में गड़बड़ी करने वालों पर कार्यवाही शुरू हो गई है। मनरेगा के तहत खुदाई का कार्य जेसीबी से कराने पर विकासखंड मनकापुर अंतर्गत ग्राम पंचायत इटरौर की ग्राम विकास अधिकारी कुमारी अमिता यादव को निलंबित करने के साथ ही रोजगार सेवक मदन प्रसाद की सेवा समाप्ति, ग्राम प्रधान गोमती की पाॅवर सीज करने की नोटिस के साथ ही सचिव, ग्राम प्रधान, रोजगार सेवक व जेसीबी मालिक पर एफ आई आर दर्ज कराई गई है। इसके अलावा ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम प्रधान तथा रोजगार सेवक से एक ₹1000 की रिकवरी का आदेश जिला अधिकारी डॉ नितिन बंसल द्वारा जारी किया गया है। बताते चलें कि मुख्य विकास अधिकारी को विकासखंड मनकापुर की ग्राम पंचायत इटरौर  के शुक्लपुरवा में विजय शुक्ला के घर के पास तालाब की खुदाई का कार्य मनरेगा से चल रहा है। 2.608 लाख रुपए की लागत से तालाब की खुदाई का कार्य कराए जाने की प्रशासनिक स्वीकृति दी गई थी।सीडीओ को मोबाइल पर सूचना मिली की तालाब की खुदाई का कार्य मनरेगा श्रमिकों से ना करा कर जेसीबी से कराया जा रहा है।शिकायत को त्वरित  संज्ञान लेते हुए सीडीओ ने औचक निरीक्षण कराया तो मौके पर जेसीबी चलती पाई गई जिस पर ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम प्रधान तथा रोजगार सेवक की मिलीभगत मानते हुए कार्यवाही की गई है। तथा रिकवरी के भी आदेश जारी किए गए हैं सीडीओ ने खंड विकास अधिकारी मनकापुर को जांच कर महात्मा गांधी नरेगा अधिनियम- 2005 में किए गए प्रावधानों के अनुसार कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं। सीडीओ ने स्पष्ट किया कि महात्मा गांधी नरेगा अधिनियम- 2005 के तहत ठेकेदारी प्रथा एवं कार्य में मशीनरी का प्रयास पूर्णता प्रतिबंधित है इसलिए जनपद में यदि  कहीं भी मनरेगा कार्य में नियमों के उल्लंघन पाया जाएगा तो सीधे एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।