पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा में शीर्ष रैंक प्राप्त 50-50 मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप दिया ... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 30 August 2020

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा में शीर्ष रैंक प्राप्त 50-50 मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप दिया ...

समाजवादी जो वादा करते हैं उसे पूरा करते हैं। उनकी कथनी और करनी में कभी अंतर नहीं रहा है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा में शीर्ष रैंक प्राप्त 50-50 मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप देने का जो वादा किया गया था उसे निभाया गया है। उसी घोषणा के फलस्वरूप समाजवादी पार्टी की ओर से 24 अगस्त 2020 से श्रेष्ठता प्राप्त 96 छात्र-छात्राओं को लैपटाप बांटे गए है।
     
श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर जिलाध्यक्षों, सदस्य विधान सभा एवं सदस्य विधान परिषद आदि के द्वारा श्रेष्ठता प्राप्त छात्रों-छात्राओं के निवास तक जाकर लैपटाप दिए गए हैं। साथ ही मेधावी छात्र-छात्राओं के माता-पिता को भी सम्मानित किया गया है।
      
इण्टरमीडियट परीक्षा 2020 में 22वीं रैंक प्राप्त तक के 50 की सूची में 47छात्रों को लैपटाप दिये गये, जिनमें जनपद बागपत, उन्नाव, फतेहपुर, के चार-चार, लखनऊ व कानपुर नगर के तीन-तीन, प्रयागराज, औरैया, सुल्तानपुर, लखीमपुर, वाराणसी, बरेली, मऊ, तथा अमरोहा के दो-दो तथा कौशाम्बी, एटा, चन्दौली, रायबरेली, कानपुर देहात, आगरा, गाजीपुर, कन्नौज, महराजगंज, सीतापुर, चन्दौली, हाथरस व जौनपुर के एक-एक छात्र को लैपटाप दिये गये है, जिनमें बागपत के छात्र अनुराग मलिक को प्रथम रैंक, प्रयागराज के प्रांजल सिंह पटेल को द्वितीय रैंक, औरैया के उत्कर्ष शुक्ला को तीसरी रैंक, उन्नाव के वैभव द्विवेदी को चौथी रैंक, सुल्तानपुर की आकांक्षा सिंह को पांचवी रैंक, बागपत की ही सीमा कौशिक को 6वीं रैंक प्राप्त छात्र-छात्राएं शामिल है।
     
 इसी प्रकार हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा 2020 में 50 उच्च रैंक प्राप्त छात्रों में से 49 को लैपटाप देकर उनके माता-पिता के साथ उनको सम्मानित किया गया। जनपद बागपत की प्रथम रैंक प्राप्त रिया जैन, बाराबंकी के द्वितीय रैंक प्राप्त अभिमन्यु वर्मा, बाराबंकी के ही तीसरी रैंक प्राप्त योगेश प्रताप सिंह, मुरादाबाद के चैथी रैंक प्राप्त गौरव सैनी, बाराबंकी के ही पांचवी रैंक प्राप्त निलीश कुमार गुप्ता तथा बागपत के ही 6वीं रैंक प्राप्त उज्जवल तोमर शामिल है। इनके अतिरिक्त जनपद आजमगढ़ में श्रेष्ठता प्राप्त रैंक वाले छात्र-छात्राओं को शेष लैपटाप अगले माह वितरित किये जायेंगे।
      
 अखिलेश यादव ने हाईस्कूल-इण्टरमीडियट बोर्ड की परीक्षा 2020 में श्रेष्ठता प्राप्त रैंक वाले छात्र-छात्राओं को लैपटाप मिलने पर बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। श्री यादव ने उम्मीद जताई है कि वे लैपटाप के जरिए देश-दुनिया की नई जानकारियां हासिल कर सकेंगे और अपनी प्रगति के नए रास्ते खोजने में सफल होंगे।
      
समाजवादी सरकार के कार्यकाल में छात्र-छात्राओं और युवाओं की बेहतरी के लिए अनेक कदम उठाए गए थे। छात्राओं को पढ़ाई में सुविधा के लिए जहां कन्या विद्याधन दिया गया था वहीं मेधावी छात्र-छात्राओं को 18 लाख लैपटाप दिए गए थे। ये लैपटाप अभी तक भी प्रयोग में हैं।

नौजवानों के लिए समाजवादी स्वरोजगार योजना तथा कौशल विकास प्रशिक्षण जैसी तमाम योजनाएं लागू की गई थी। सरकार ने नौजवानों को स्मार्टफोन देने का भी वादा किया था।भाजपा ने भी युवाओं को लैपटाप देने का वादा अपने चुनाव संकल्प पत्र में किया था लेकिन आज तक भाजपा सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया। उसने कहा था कालेज में दाखिला लेने पर प्रदेश के सभी युवाओं को बिना जाति और धर्म के भेदभाव के मुफ्त लैपटाप दिया जाएगा। राज्य के सभी युवाओं को कालेज में दाखिला लेने पर स्वामी विवेकानन्द युवा इंटरनेट योजना के अंतर्गत प्रतिमाह 1 जीबी इंटरनेट मुफ्त देने का भी वादा अपने कथित लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 में किया था। भाजपा ने सभी कालेजो, विश्वविद्यालयों में मुफ्त वाईफाई सुविधा देने का भी वादा किया था।
     
 भाजपा धोखाधड़ी की राजनीति करती है। उसके झांसे में अब कोई आने वाला नहीं है। युवा पीढ़ी को तो सबसे ज्यादा नुकसान भाजपा राज में ही हुआ है। उनका भविष्य अंधकार में है। वैसे भी अब तो भाजपा सरकार के कार्यकाल के चन्द महीने ही बचे हैं। जब अभी तक भाजपा को अपने वादे याद नहीं आए तो अगले कुछ दिनों में वह क्या कर पाएगी? वादा खिलाफी भ्रष्टाचार की गिनती में आता है। जनता हर वादे की भाजपा से जवाबदेही लेगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।