गंगा घाटों पर गूंजा दो गज की दूरी, मास्क व साफ - सफाई है जरूरी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 7 September 2020

गंगा घाटों पर गूंजा दो गज की दूरी, मास्क व साफ - सफाई है जरूरी

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

कोरोना से बचाव को घाटों पर चला जागरूकता अभियान 

गंगा घाटों पर गूंजा  दो गज की दूरी, मास्क व साफ - सफाई है जरूरी 

नाविकों और पुरोहितों को बांटे गए मास्क 

पितृपक्ष की वजह से घाटों पर बढ़ती भीड़ के कारण कोरोना संक्रमण के खिलाफ एहतियात बरतने की अपील करते हुए रविवार को दशाश्वमेध घाट पर नमामि गंगे ने लाउडस्पीकर के माध्यम से कहा कि इसकी सिर्फ एक दवा है - दो गज की दूरी, मास्क पहनना और साफ सफाई । कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए नाविकों , पुरोहितों और पूजन सामग्री बेच रहे दुकानदारों को मास्क का वितरण किया गया । गंगा और घाटों की सफाई के लिए लोगों से अपील कर जागरूक किया गया । श्री गंगाष्टकम का पाठ कर गंगा से कोरोना के जड़ मूल से विनाश के लिए गुहार लगाई गई । संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि गंगा और घाटों पर साफ सफाई रखने से हमें कोरोना जैसी कई बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है । गंगा रूपी भारत की वैभवशाली संपदा का संरक्षण करना अनिवार्य ही नहीं बल्कि अपरिहार्य है ।  कोरोना महामारी से बचने का सर्वोत्तम उपाय मास्क लगाना व शारीरिक दूरी के मानक का पालन करना है । राष्ट्र की उन्नति के लिए हमें कोरोना से बचकर अपने परिवार की सुरक्षा भी करनी है । आयोजन में प्रमुख रूप से नमामि गंगे काशी प्रांत के संयोजक राजेश शुक्ला, महानगर संयोजक शिवदत्त द्विवेदी, सहसंयोजक शिवम अग्रहरी रामप्रकाश जायसवाल, सत्यम जायसवाल , नाविक, पुरोहित एवं दुकानदार बंधु उपस्थित रहे । 

राजेश शुक्ला गंगा सेवक संयोजक नमामि गंगे / सहसंयोजक गंगा विचार मंच काशी प्रांत,  सदस्य जिला गंगा समिति वाराणसी , ब्रांड अंबेसेडर नगर निगम वाराणसी !

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।