डीडीओ ने आॅगनबाड़ी केन्द्रों के लाभार्थियों का डाटा डिजिटलीकरण अपूर्ण होने पर जताई नाराजगी, शीघ्र पूर्ण करने के दिये निर्देश - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 2 September 2020

डीडीओ ने आॅगनबाड़ी केन्द्रों के लाभार्थियों का डाटा डिजिटलीकरण अपूर्ण होने पर जताई नाराजगी, शीघ्र पूर्ण करने के दिये निर्देश

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

डीडीओ ने आॅगनबाड़ी केन्द्रों के लाभार्थियों का डाटा डिजिटलीकरण अपूर्ण होने पर जताई नाराजगी, शीघ्र पूर्ण करने के दिये निर्देश


 कानपुर देहात।जिलाधिकारी डा0 श्री दिनेश चन्द्र व  मुख्य विकास अधिकारी श्री जोगिन्दर सिंह के निर्देश के क्रम में आज दिनाॅक 01. सितम्बर 2020 को जिला विकास अधिकारी श्री प्रद्युम्न कुमार यादव की अध्यक्षता में जिला पोषण समिति की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया।

 बैठक में शासन की महत्वाकाॅक्षी योजना आॅ0बा0 केन्द्रों के लाभार्थियों का डाटा डिजिटलीकरण अपूर्ण होने पर जिला विकास अधिकारी द्वारा गहरा रोष व्यक्त किया गया। साथ ही कामन सर्विस सेन्टर के जिला समन्यवयक तथा समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी/प्रभारी को आगामी 03 दिवस में सम्पूर्ण डाटा फीड कराने के निर्देश प्रदान किये गये, जिसकी पर्यवेक्षण जिला कार्यक्रम अधिकारी, कानपुर देहात के द्वारा किया जायेगा। विभाग की लाभार्थी परक योजनाओं को डेश बोर्ड पर तत्काल फीड कराने के निर्देश समस्त समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी/प्रभारी प्रदान किये गये। समीक्षा बैठक में समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी/प्रभारी को निर्देश प्रदान किये गये वित्तीय वर्ष-2018-19 एवं 2019-20 निर्मित हो रहे आॅ0बा0 केन्द्र भवन निर्माण को सतत निरीक्षण कर निर्माण की अद्यावधिक सूचना जिला कार्यक्रम अधिकारी को उपलब्ध करायें। 

समीक्षा बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री राकेश यादव सहित समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी/प्रभारी एवं मुख्य सेविका तथा यूनीसेफ के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।