निजीकरण से वर्तमान बिजली दरो में अभूतपूर्व वृद्धि होगी और दैनिक उपयोग की वस्तुओं के मूल्यों में भी होगी वृद्धि - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 10 September 2020

निजीकरण से वर्तमान बिजली दरो में अभूतपूर्व वृद्धि होगी और दैनिक उपयोग की वस्तुओं के मूल्यों में भी होगी वृद्धि

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


 
 निजीकरण से वर्तमान बिजली दरो में अभूतपूर्व वृद्धि होगी और दैनिक उपयोग की वस्तुओं के मूल्यों में भी होगी वृद्धि

 बिजलिकर्मियो ने मुख्यमंत्री सहित शासन के जिम्मेदार अधिकारियों से निजीकरण के निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार की कि अपील

 वाराणसी 10सितम्बर । विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले प्रबन्ध निदेशक कार्यालय भिखारीपुर पर निजीकरण के खिलाफ आज नौंवे  दिन भी वाराणसी के समस्त बिजली कर्मचारियों एवं अभियंताओं ने प्रबन्ध निदेशक कार्यालय भिखारीपुर पर  किया जोरदार  विरोध प्रदर्शन किया ।

   संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि अभियंताओं व कर्मचारियों ने सरकार के निजीकरण के फैसले की घोर निंदा की।  निजी कंपनियां आगरा, नोएडा, मुंबई, दिल्ली जैसे शहरों में  सरकारी धन को लूटने में लगी हुई हैं। एक दाम में बिजली खरीदकर महंगे रेट पर बिजली बेची जा रही है। इससे जनता परेशान है। निजीकरण होने पर लागू वर्तमान बिजली दरों में अभूतपूर्व वृद्धि होगी, बिजली दरों में वृद्धि होने से  दैनिक उपयोग की वस्तुओं के मूल्य में वृद्धि होगी जिससे आम जनता की जेब कटेगी | वर्तमान में यदि आम उपभोक्ता का कार्य नहीं हो रहा है तो सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत सूचना मांग सकते हैं, जबकि निजीकरण होने के पश्चात आप  ऐसी सूचना  नहीं मांग सकते | 
वक्ताओं ने कहा पूर्ववर्ती सरकार द्वारा किए गए ग्रेटर नोएडा और आगरा में निजीकरण के प्रयोग असफल साबित हुए हैं। निजी कम्पनी की ओर से सरकारी धन का लूट किया जा रहा है। कम दाम पर बिजली पावर कॉरपोरेशन से खरीद कर अधिक दाम पर जनता को बेचकर जनता के करोड़ों रुपये लूटे जा रहे हैं। सरकार ने पूर्वांचल निगम के निजीकरण का फैसला किया है, जहां पर भूमिगत केबिलिंग का कार्य, स्काडा एवं अन्य विद्युत प्रणाली नियंत्रण पर अरबों  खरबों रुपये खर्च कर सुधार की प्रक्रिया चल रही है। फलस्वरूप आपूर्ति सुधरी है। साथ ही लाइन लॉस घट रहा है एवं थ्रू-रेट में भी काफी वृद्धि हो रही है। समिति ने मुख्यमंत्री सहित शासन के अन्य अधिकारियों से निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार करने की अपील की है। इस मौके पर बड़ी संख्या में बिजली विभाग के कर्मचारी एवं अभियंता उपस्थित रहे। *आज लखनऊ में केंद्रीय संयुक्त संघर्ष समिति , उत्तर प्रदेश की हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि पूर्वांचल के सभी जनपदों में विरोध सभा का क्रम जारी रहेगा एवं 18 सितंबर से पूरे उत्तर प्रदेश के सभी जनपद मुख्यालयों पर बिजली कर्मचारी एवं अभियंता निजीकरण के खिलाफ विरोध सभा करेंगे |*
   सभा की अध्यक्षता ई0 जगदीश पटेल एवं संचालन संतोष वर्मा ने किया।
   सभा को सर्वश्री ई0 डी0के0 दोहरे,आर0के0 वाही, मायाशंकर तिवारी, ए0के0 श्रीवास्तव,ई0 संजय भारती,राजेन्द्र सिंह,ई0 जगदीश पटेल , इं अनूप राय, अंकुर पाण्डेय,संतोष वर्मा,जिउतलाल, इं पी के गुप्ता ओ0पी0 भारद्वाज, मदन श्रीवास्तव,वीरेंद्र सिंह, रमाशंकर पाल,आदि पदाधिकारियो ने संबोधित किया।

    

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।