रेलवे में विशेष टिकट जाँच अभियान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 10 September 2020

रेलवे में विशेष टिकट जाँच अभियान

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

रेलवे में  विशेष टिकट जाँच अभियान

वाराणसी 09 सितम्बर,2020;पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल द्वारा मुम्बई , बांद्रा तथा सूरत जा रही स्पेशल गाडि़यों में बढ़ती यात्रियों की संख्या को देखते हुए वाराणसी मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री विजय कुमार पंजियार के आदेश पर वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री संजीव शर्मा के निर्देश पर सहायक वाणिज्य प्रबंधक श्री ए. के. सुमन के नेतृत्व में दिनांक 07.09.20 एवं 08.09.20 को स्टेशनों एवं ट्रेनों में विशेष टिकट जाँच अभियान चलाया गया।  विशेष टिकट जाँच अभियान में कुल 252 यात्री अवैध रूप से यात्रा करते पाये गये जिनसे रूपये एक लाख अस्सी हजार रेल राजस्व की वसूली की गयी। वरिष्ठ नागरिकों के टिकट पर कम उम्र के यात्री सफर करते हुए पाये गये। वरिष्ठ नागरिकों के मूल टिकटों कों दलालों द्वारा यात्रियों को दिये गये टिकटों के उम्र कम दिखाकर यात्रा करते हुए पाये गये। इसमें से 35 यात्रियों को स्टेशन पर उतारा गया। छपरा, बलिया, मऊ, गाजीपुर सिटी, वाराणसी सिटी, ज्ञानपुर रोड, प्रयागराज रामबाग आदि स्टेशनों पर सघन  टिकट जाँच अभियान चलाया गया।
इस अभियान के दौरान वाराणसी मंडल पर चलने वाली ताप्ती गंगा एक्स., पवन एक्स.,गाजीपुर सिटी बांद्रा एक्स, शिव गंगा सुपर फास्ट  ट्रेनों में आरक्षित टिकटों की कालाबाजारी की संभावना को देखते हुए सघन जाँच की गयी । क्लोज सर्किट कैमरों की मदद से मंडल के विभिन्न  स्टेशनों के आरक्षण काउण्टर पर भी विशेष निगरानी की जा रही है। प्लेटफॉर्मों   पर प्रवेश द्वार पर सघन टिकट जाँच अभियान चलाया जा रहा है। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री संजीव शर्मा ने सभी यात्रियों से अपील की  है कि यात्री गण किसी के झांसे में आकर गलत टिकट न लें  और अपना  उचित यात्रा टिकट लेकर ही ट्रेनों में यात्रा करें।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।