बांदा: रात एक ही परिवार के तीन लोगों को लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया गया - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 21 November 2020

बांदा: रात एक ही परिवार के तीन लोगों को लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया गया

सलिल यादव बांदा 

रात एक ही परिवार के तीन लोगों को लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया गया

बांदा । उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में आपराधिक घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। शुक्रवार देर रात एक ही परिवार के तीन लोगों को लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया गया। बताया जा रहा है कि चचेरे भाइयों में आपस में मामूली विवाद के बाद बात इतनी बढ़ गई कि एक पक्ष के लोगों ने हमला कर एक पुलिस कांस्टेबल, उसकी मां और उसकी बहन की निर्मम हत्या कर दी।

वहीं सूचना पर मिलने पर आईजी, डीएम और एसपी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। जहां पर इन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण किया और मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। फॉरेंसिक टीम की मदद से घटनास्थल से साक्ष्य घटाएं. व इस पूरे मामले में पुलिस ने अभी तक तीन हमलावरों को गिरफ्तार किया है। वही बाकी हमलावरों की तलाश के लिए पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं।

पुलिस कांस्टेबल, उसकी मां और बहन की निर्मम हत्या
पूरा मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के चमरौडी इलाके का है. जहां देर रात बांदा के रहने वाले प्रयागराज में तैनात कांस्टेबल अभिजीत वर्मा, उसकी मां रमावती और उसकी बहन निशा वर्मा की उसके ही चचेरे भाइयों ने हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक, लगभग आधी रात को अभिजीत के परिवार के लोगों और उसके चचेरे भाई शिवपूजन और अन्य अन्य लोगों से जूठे चावल फेंकने को लेकर कहासुनी होने लगी इसी दौरान उसके चचेरे भाइयों ने अचानक लाठी, डंडों और धारदार हथियार से इन पर हमला कर दिया। घर के अंदर घुसकर इस लोगों की निर्मम हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए।

जैसे ही घटना की जानकारी पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारियों को मिली तो मौके पर आईजी के. सत्यनारायण, डीएम आनंद कुमार व एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा भारी पुलिस बल लेकर घटनास्थल पर पहुंचे और जांच पड़ताल की और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज घटनास्थल से फॉरेंसिक टीम की मदद से साक्ष्य जुटाए. वहीं 3 लोगों को पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किया है।

मृतक कांस्टेबल की बहन को गाली देने को लेकर हुआ था विवाद

चचेरे भाइयों में आपस में विवाद में हुई इतनी बड़ी वारदात के दौरान बीच बचाव में घायल हुए मृतक कांस्टेबल अभिजीत के साथी दिलीप ने बताया कि अभिजीत के चचेरे भाइयों ने कल उसके घर की तरफ जूठा चावल फेंक दिया था। जिसको लेकर जब उसकी बहन ने मना किया तो उसके चचेरे भाई शिवपूजन ने उसकी बहन के साथ गाली गलौज की थी। जिस पर अभिजीत को जब पता चला तो उसे डांटा और इस मामले की चौकी में भी शिकायत की। उसी बात की खुन्नस को लेकर इन लोगों ने अभिजीत के परिवार पर हमला कर दिया और जब मैंने बीचबचाव किया तो हमलावरों ने मुझे भी लाठी डंडों से पीट दिया।

खाने के बचे जूठे चावल को लेकर हुआ था विवाद
पूरे मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने बताया कि शहर कोतवाली क्षेत्र के चमरौडी मोहल्ले में एक देर रात परिवार के चचेरे भाइयों में आपस में झगड़ा हो गया था। उसी में एक परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई है। जिसमें एक पुलिस कांस्टेबल है व उसकी मां और बहन है। वहीं इस पूरे मामले में अभी हमने 3 लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. साथ ही बाकी आरोपियों की तलाश के लिए दबिश दी जा रही है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।