बांदा : अमृत योजना जनता के अरमानों को कराया विषपान! - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 17 December 2020

बांदा : अमृत योजना जनता के अरमानों को कराया विषपान!

सलिल यादव बांदा

बांदा : अमृत योजना जनता के अरमानों को कराया विषपान!

बांदा।जनपद में अमृत योजना वर्तमान में विषपान योजना का काम कर रही हैं। सरकारी धन कथित तौर पर बंदर बांट हो गया। सरकारी उपेक्षा का भी दंश इन पर कहर बनकर टूटा। जनता के अरमान आसुओं में बह गये।डीएम आनन्द कुमार सिंह के लिये भी इस योजना को साकार रूप दिलाना किसी कड़ी चुनौती से कम नहीं है।
जिला में अमृत योजना के तहत कई पार्को का चयन किया गया था, लेकिन लंबा अंतराल बीत जानें के बाद भी पार्को की सूरत नहीं बदल सकी। कुछ पार्को की बदहालशहर वासियों के लिये दशक भर पहले करोड़ों रुपयों की लागत से क़रीब सौ बीघा क्षेत्रफल बनाया गया कांशीराम उपवन उपेक्षा का शिकार है। भ्रष्टाचार की जद में आकर वास्तविक पहचान खो चुका हैं। पार्क सिर्फ जुमला साबित हुआ।कांशीराम उपवन का दरवाजा आज भी लोगों के लिएबंद है।
इस पार्क का निर्माण वर्ष 2007 में हुआ था लेकिन आज तक जनता के लिए यह पार्क नहीं खुल सका। जिससे आम जनता यहां आ कर स्वस्थ मनोरंजन एवं स्वास्थ लाभ के लिये कुछ वक्त बिता सके। यह पार्क धीरे-धीरे दुर्दशा का शिकार होता गया। लेकिन जिम्मेदार अपनी आंखे बंद किए रहे। इतने लंबे समय बीत जाने के बाद भी यह पार्क आमलोगों के लिए नहीं खुल सका।अब आयुक्त गौरव दयाल ऩे पिछले महीने निरीक्षण में पार्क की उपयोगिता को नकारते हुये दीनदयाल आवासीय योजना में शामिल कर विकास प्राधिकरण को इसके भूखंड तैयार करनें के निर्देश दिये।
इस पार्क को अमृत योजना के तहत लाखों रुपये का बजट प्राप्त होने के बाद भी इसने खंडहर का स्वरूप ले लिया! बसपा शासन काल में नरैनी रोड पर क़रीब दस करोड़ रुपये की लागत से कांशी राम उपवन का निर्माण शुरू हुआ था। बसपा सरकार की यह सौगात सपा एंव भाजपा शासन काल में उपेक्षित हो गई। अमृत योजना के तहत लगभग 87लाख रुपये का बजट इसके जीर्णोद्धार के लिये  भी आवंटित हुआ लेकिन सिर्फ 28 लाख 80हजार रुपये ही खर्च हो सके। काम रोक दिया गया।
मुख्यालय का एक अन्य विकलांग पार्कभी अतिक्रमण का शिकार हैं
स्वराज कॉलोनी में स्थित विकलांग पार्क को अतिक्रमण से मुक्त करा लिया गया था। लेकिन फिर उसके बाद इसमें अतिक्रमण हो गया। इस पार्क का भी चयन अमृत योजना के तहत किया था। इसके लिए 10.56 लाख रुपये का बजट भी आवंटित हुआ था। लेकिन अबतक इस पार्क में किसी भी प्रकार का कोई कार्य नहीं हो सका।
नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष मोहन साहू सीना ठोंक दावा करते हैं की अमृत योजना के तहत चयनित पार्को का कार्य जल्द ही पूरा कराया जाएगा। जहां पर लोगों द्वारा अतिक्रमण किया है उसे जल्द ही अतिक्रमण मुक्त करा कर उस पार्क में भी कार्य को पूरा किया जाएगा

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।