वाराणसी में बोले अखि‍लेश- 2022 में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेंगे, भाजपाइयों जैसी हरकत न करें सपाई - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 28 February 2021

वाराणसी में बोले अखि‍लेश- 2022 में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेंगे, भाजपाइयों जैसी हरकत न करें सपाई

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

वाराणसी में बोले अखि‍लेश- 2022 में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेंगे, भाजपाइयों जैसी हरकत न करें सपाई


वाराणसी। 2017 विधानसभा चुनावों में मिली करारी शिकस्त के बाद के एक बार फिर समाजवादी पार्टी नये जोश के साथ 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारियों लग गयी है। इसी क्रम में संत रविदास जयंती पर वाराणसी पहुंचे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर पार्टी की चुनावी तैयारियों में जोश भर दिया है। 

इस दौरान जब उनसे पत्रकारों ने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से दुबारा साथ के बारे में पूछा तो उन्होंने हंसते हुए जवाब दिया कि वो साथ तो 2017 में बनारस में हुई छूट गया था।

भाजपा नफरत फैला रही है : अखि‍लेश 

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि हमारा देश ऐसा देश हैं जहां हम सभी एक दूसरे पर भरोसा करते हैं। एक दुसरे के धर्म और उनके सम्र्पदाय पर भरोसा करते हैं। ये हमारे देश की खूबी है विशेषता है। उन्होंने आगे कहा कि हमारे भारत की संस्कृति को, हमारे भारत की एकता को और भारत के लोगों के बीच में कोई सबसे ज़्यादा नफरत फैला रहा है तो वो भारतीय जनता पार्टी के लोग हैं। भारतीय जनता पार्टी लगातार कभी धर्म के नाम पर कभी जातियों के बीच में नफरत फैला रही है। 

आगे आने वाला है बड़ा खतरा : अखि‍लेश 

अखिलेश यादव ने बताया कि‍ मिर्ज़ापुर में हमने एक शिविर कार्यकर्ताओं के साथ किया है। इस शिविर में हम अपने कार्यकर्ताओं को बताते हैं कि आने वाले समय में कैसा संकट आ रहा है और अगर इस संकट से नहीं बचाया तो हमारे लोकतंत्र को ख़तरा हो जाएगा। हम समाजवादियों का रास्ता सेक्यूलर है और सोशलिस्ट भी। उन्होंने आगे कहा कि सोशलिस्ट होना और उस रास्ते पर आगे चलना कितना कठिन काम है। वहीं इसके विपरीत कम्यूनल होना बहुत आसान है, लेकिन अपनी देश की संस्कृति और स्क्यूलरिज़म के रास्ते पर चलना मुश्किल है। 

अम्‍बेडकर और लोहि‍या के सि‍द्धांत को मानते हैं हम 

पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हम समाजवादियों के सामने मुश्किल ज़रूर है पर हम अम्बेड्कर जी और राम मनोहर लोहिया जी के बताये रास्तों पर चलकर लोकतंत्र को बचाकर, अपने समाजवादी सिद्धांत को बचाकर और सेक्‍युलिरज़्म को बचाकर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी कार्य करती आयी है और कार्य करती रहेगी। 
कहां गयी 5 ट्रि‍लि‍यन वाली इकोनॉमी 
उन्होंने आगे कहा कि आज तक जो भारतीय जनता पार्टी ने फैसले लिए हैं। उससे हमारी अर्थव्यवस्था को नुक्सान हुआ है। भारत के लोगों का नुक्सान हुआ है। भारत को 5 ट्रिलियन अर्थव्यस्था का ख्वाब दिखाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने इस बजट में एक बार भी 5 ट्रिलयन की बात नहीं कही। राष्ट्रपति के अभिभाषण में भी 5 ट्रिलियन इकोनामी का रास्ता नहीं बताया। 

सीएम योगी पर साधा नि‍शाना 

मुख्यमंत्री के बयान कि विपक्ष प्रदेश की छवि खराब कर रहा है पर अखिलेश यादव ने कहा कि आप अगर उनके विधानसभा के भाषण देख लेंगे, पूरे देश के इतिहास में और इस डेमोक्रेसी में और खासकर उत्तर प्रदेश विधानसभा की जो परम्पराएं रहीं हैं। उसमें अनपार्लियामेंट्री वर्डस अगर किसी ने सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किये हैं तो वो भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने मुकदमें भी वापस लिए हैं। इसी दौरान पत्रकार के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर आप ने सच दिखा दिया तो ठोक दिए जाओगे।
ईस्‍ट इंडि‍या कंपनी की दि‍लायी याद 
युवाओं को भाजपा के रोज़गार देने की बात पर अखिलेश यादव ने कहा कि बनारस के अपने पत्रकार साथियों से कहूंगा कि इतिहास के पन्ने पलटिये आप। देश में एक ईस्ट इंडिया कम्पनी आयी थी।  हमलोगों ने जाना ही नहीं होगा एक कानून कहीं पास हुआ और वो सरकार बन गयी। ईस्ट इंडिया जो कम्पनी थी वो एक कानून से सरकार बन गयी और हमारी सरकार जो है वो पता नहीं क्यों कंपनी बनने के रास्ते पर जा रही है।  

हमारे 10 हजार कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज कि‍या गया है 

समाजवादियों के सशक्त आंदोलन न दिखाई देने के प्रश्न पर अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के अकेले एक आंदोलन ने, जो किसान आंदोलन था। वो अभी भी चल रहा है और हमारे दस हज़ार कार्यकर्ताओं पर मुकदमा भी दर्ज किया गया है। उसी दौरान यहां बनारस में किस बेरहमी से हमारे कार्यकर्ताओं पर लाठी चली है। मुझे ख़ुशी इस बात की है कि पुलिस के लोग उन्हें लाठी मारते रहे लेकिन किसान और नौजवानों का नारा लगना उन्होंने नहीं छोड़ा। 
बनारस की जेल अच्‍छी है कि‍ नहीं 
एक सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि दिल्ली की सरकार बड़ी-बड़ी चीज़ें बेच रही है और प्रदेश सरकार छोटी चीज़ें बेच रही है। अगर भारत की सरकार ये कहे की हमें मोनाटाइज़ करनी पड़ेगी चीज़ें क्योंकि हमें ढाई लाख करोड़ रुपये चाहिए। आप अपने एसेट्स बेच रहे हो जबकि आप को नये एसेट्स बनाने चाहिए। उन्होंने कहा कि एक आदमी से बेहतर कौन जानेगा जब वह अपना घर और सामान बेचने लगे तो उसकी हालत क्या होगी। उन्होंने पत्रकार से मज़ाकिया लहजे में कहा कि कम से कम आप ही सही बता दो। साथ ही उन्‍होंने चुटकी लेते हुए ये भी पूछा कि‍ बनारस की जेल अच्छी है कि नहीं। 
समाजवादि‍यों ने नया नया वाट्सएप चलाना सीखा है 
समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अनिल यादव के पार्टी छोड़ने के बाद आरोप की उनकी पत्नी पर अभद्र टिपण्णी की गयी के सवाल पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता अभी नया-नया व्हाट्सअप चलाना सीखे हैं। उन्होंने सभी समाजवादी कार्यकर्ताओं से वाराणसी से आह्वान किया कि आप भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के रास्ते पर मत जाइये। समाजवादी कार्यकर्ता, आप लोग भारतीय जनता पार्टी की तरह भाषा इस्तेमाल मत करिये और कांग्रेस वाले साजिश के रास्ते पर मत जाइये। आप का रास्ता साफा है आप को लोकतंत्र बचाना है। आप को समजवादी रास्ता इस्तेमाल करना है। 
बनारस में ही छूट गया था कांग्रेस से साथ 
कांग्रेस से दुबारा गठबंधन की बात पर उन्होंने कहा कि बनारस में 2017 में वो साथ छूट गया और आने वाले चुनावों में समाजवादी पार्टी बड़ी पार्टियों से कोई गठबंधन नहीं करेगी। छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन की गुंजाइश होगी। वहीं चंद्रशेखर आज़ाद रावण के बयान पर कहा कि अच्छा है कि युवा आगे आ रहे हैं। 

हम चंदा नहीं दक्षि‍णा देते हैं

राम मंदिर में कितना चंदा समाजवादी पार्टी देगी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी दक्षिणा देने पर भरोसा रखती है और वो गुप्त होता है। हमारी वैदिक परम्पराओं में और हमारी माइथोलोजी में हमारे धर्म में चन्दा शब्द कहीं नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चन्दा शब्द भी बदल दिया जब से हमने सवाल उठा दिया। समाजवादी पार्टी दक्षिणा देती है और देगी। 
पार्टी आजम खां के साथ है 
प्रदेश की जनता अगर आप को जिताएगी तो क्या करेंगे आप प्रदेश की जनता के लिये। इसपर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कुछ नहीं बताऊंगा वरना भाजपा नक़ल कर लेगी। वहीं आज़म खां के ऊपर लगाए गए मुकदमों को गलत बताया। उन्होंने कहा कि पार्टी आज़म खां के साथ है। उन्होंने ओवैसी पर कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता विकास चाहती है। उत्तर प्रदेश की जनता लैपटॉप चाहती है। उत्तर प्रदेश की जनता चाहती है कि वरुणा साफ़ हो। 

सभी सरकारों को अपनाना होगा गोमती मॉडल 

उन्होंने कहा कि गोमती मॉडल ही सभी सरकारों को अपनाना होगा। पहला शहर होगा देश के अंदर जहां गोमती साफ़ चल रही है। वहीं ममता बनर्जी के आरोप पर सहमति जताते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की ये रणनीति है कि ज़्यादा से ज़्यादा से फेज़ में चुनाव हो और परेशानी पैदा की जाए। हर पोलिंग बूथ में ममता बनर्जी पोलिंग एजेंट की मांग करें वरना वहां धोखा होगा। 

हजार साल में भी बनारस नहीं बनेगा क्‍योटो 

वाराणसी को क्योटो बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार एक हज़ार साल में भी क्योटो नहीं बना सकती है। वहीं वाराणसी में 24 घंटे की बिजली की मांग को लेकर धरने पर बैठे पूर्व शहर दक्षिणी विधायक श्याम देव राय चौधरी की बात करते हुए उन्होंने कहा कि मौजूदा डीएम और एसएसपी ने कहा कि इनका अनशन तुड़वा दीजिये हालत सही नहीं है, जब में उनसे मिला तो मैंने उनसे एक ही निवेदन किया कि मै 24 घंटे बिजली दे रहा हूँ बनारस को आप प्रधानमंत्री जी से कहके प्रदेश का बिजली का कोटा बढ़ा दो।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।