पति-पत्नी के झगड़े में पुलिस बनी खलनायक, पति को पुलिस चौकी पर लाकर लिखी गई जुल्म की इबारत - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 21 February 2021

पति-पत्नी के झगड़े में पुलिस बनी खलनायक, पति को पुलिस चौकी पर लाकर लिखी गई जुल्म की इबारत

राकेश सिंह गोण्डा 

पति-पत्नी के झगड़े में पुलिस बनी खलनायक, पति को पुलिस चौकी पर लाकर लिखी गई जुल्म की इबारत

गोण्डा। पति-पत्नी के मामूली झगड़े में पुलिस न सिर्फ खलनायक की भूमिका में नजर आयी, बल्कि उसने अपनी बेलगामी और बर्बरता की जो स्क्रिप्ट लिखी उससे इंसानियत भी शर्मसार हो गई। बगैर किसी लिखित शिकायत के पति को पुलिस चौकी पर ले आयी। आरोप है कि चौकी पर तीन सिपाहियों ने लाठियों से उसे मारकर अंग भंग कर दिया।
ताजा मामला जिले के छपिया थाना क्षेत्र की हथियागढ़ पुलिस चौकी का है। यहां के निवासी राजू पुत्र अली हुसैन का कहना है कि 14 फरवरी की रात करीब नौ बजे उसके बेटे आपस में लड़ रहे थे। इस पर उसकी पत्नी बच्चों को मारने लगी जिसका विरोध करते हुए उसने पत्नी को डांटा। इस बीच उसका लड़का थोड़ी दूर मौजूद सिपाहियों के पास चला गया।
आरोप है कि हथियागढ़ पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही चेतन पाण्डेय, अजय निषाद व प्रमोद वहां पहुंचे और भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए उसके घर में जबरन घुस गए।
नशे में धुत थे सिपाही!
पीड़ित का आरोप है कि सिपाही नशे में धुत थे। तीनों सिपाहियों से उसकी पत्नी भी किसी तरह की मारपीट या लड़ाई झगड़ा न होने की दुहाई देती रही लेकिन सिपाहियों ने उसकी एक न सुनी और राजू को घसीटते हुए चौकी पर ले गए, जहां दो सिपाहियों ने उसे पकड़ लिया और एक सिपाही लाठी से उसके बदन पर बर्बरता दिखाने लगा।
पीड़ित परिवार ने पुलिस अधीक्षक शैलेश पाण्डेय से लगायी न्याय की गुहार
वर्दीधारियों की जुल्म-ज्यादती का शिकार राजू अपनी पत्नी व बेटे के साथ पुलिस अधीक्षक के दरबार में पहुंचा और न्याय की गुहार लगायी है। उसे भरोसा भी दिया गया है कि उसके साथ इंसाफ किया जाएगा। पीड़ित ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी शिकायती पत्र भेजकर इंसाफ की फरियाद की है। हालांकि इस मामले में थानाध्यक्ष से लेकर चौकी प्रभारी तक आरोपी सिपाहियों को बचाने में लगे हुए हैं।
क्या कहते हैं छपिया थानाध्यक्ष
इस संबंध में छपिया थानाध्यक्ष संजय कुमार तोमर का कहना है कि राजू की पत्नी की शिकायत पर उसके विरूद्ध 151 की कार्रवाई की गयी है। सिपाहियों द्वारा राजू को बर्बरतापूर्वक मारने-पीटने के मामले में थानाध्यक्ष ने कहा कि आरोप गलत और निराधार है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।