स्त्री परिवार और समाज दोनों का स्वरूप बदलने में सक्षम - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 27 March 2021

स्त्री परिवार और समाज दोनों का स्वरूप बदलने में सक्षम

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

स्त्री परिवार और समाज दोनों का स्वरूप बदलने में सक्षम

वाराणसी, 26 मार्च। डीएवी पीजी कॉलेज के राष्ट्रीय सेवा योजना की आठों इकाईयों द्वारा आयोजित ऑनलाइन विशेष शिविर का छठा दिन महिला सशक्तिकरण पर केंद्रित रहा। शुक्रवार को कार्यक्रम के पहले सत्र में वाराणसी की प्रख्यात समाजसेविका वाणी भारद्वाज ने कहा कि महिला में वह शक्ति है जिससे वह परिवार के साथ साथ समाज और देश सबका स्वरूप बदल सकती है। दूसरे सत्र में राष्ट्रीय अभिलेखागार, नई दिल्ली की असिस्टेंट क्यूरेटर डॉ. कनकलता सिंह ने भारतीय ऐतिहासिक कालखंड के चित्रों का उल्लेख करते हुए कहा कि ये चित्र भारत मे स्त्री-पुरुष की समाज मे समान भागीदारी के स्पष्ट प्रमाण है। तीसरे सत्र में डॉ. बंदना बाल चंदनानी ने राष्ट्रवाद और भारत के पुनरोत्थान पर ऑनलाइन व्याख्यान दिया। इसके अलावा स्वयंसेवको ने महिला सशक्तिकरण विषय पर पोस्टर, बैनर और स्लोगन प्रस्तुत किया। 
संयोजन कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मीनू लाकड़ा, डॉ. अखिलेन्द्र कुमार सिंह एवं डॉ. नजमूल हसन द्वारा किया गया। स्वागत डॉ. शशिकान्त यादव, डॉ. सिद्धार्थ सिंह एवं डॉ. शिवनारायण ने तथा धन्यवाद ज्ञापन डॉ. प्रतिमा गुप्ता एवं डॉ. राकेश कुमार मीना ने दिया।


No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।