जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी की देख रेख में निगरानी समिति की वर्चुअल बैठक, दिये निर्देश - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 17 April 2021

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी की देख रेख में निगरानी समिति की वर्चुअल बैठक, दिये निर्देश

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी की देख रेख में निगरानी समिति की वर्चुअल बैठक, दिये निर्देश

कानपुर देहात।जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता और मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय के देख रेख में कोविड-19 के दृष्टिगत निगरानी समिति के नोडल अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की गयी। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि ग्राम पंचायत और जनपद स्तर के करीब 76 अधिकारी इस बैठक में सहभागिता कर रहे है। इस बैठक का उद्देश्य है कि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए निगरानी समिति को सक्रिय करना और यह सक्रियता शहरी व ग्रामीण दोनो स्तरों पर की जायेगी। जिसमें ग्राम से लेकर जनपद तक का हर अधिकारी व कर्मचारी एक प्रमुख भूमिका में होगा, साथ ही मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि अधिकारी युगक मंगल दल व महिला मंगल दल का सहयोग भी इसमें ले, जिससे कोविड 19 की लडाई को मजबूती से लड़ा जा सके। चुकि इस समय शादी समारोह चल रहे है ऐसी स्थिति में ऐसे समारोहों में सोशल डिस्टेसिंग का पूर्णतया पालन किया जाये इस बात का पूरा ध्यान रखा जाये। 
इस महामारी से लड़ने के लिए डोर-टू-डोर प्रचार-प्रसार करने की जरूरत है। कोविड पीडित लोगों को नियमित डाक्टर देख भाल करे। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को दूरभाष पर वार्ता कर उनकी कुशलता का समाचार लगातार लेते रहे। हर नागरिक आरोग्य सेतु एप को डाउलोड कर ले ताकि कोविड के बारे में उसको जानकारी मिल सके। सेनेटाइजर व मास्क का प्रयोग लोग करे इस बात की निगरानी लगातार अधिकारीगण करते रहे साथ ही उन्होंने मोहल्ला क्लीनिक को सक्रिय किये जाने की बात भी कही। 
वहीं पर जिलाधिकारी ने इस वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से बताया कि इस बीच में मरीज बढ़े है ऐसी स्थिति में निगरानी समिति की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है इस समिति में जिम्मेदार लोग है और वह निश्चित रूप से इस महामारी में अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी समझेंगे, अपना बचाव करते हुए आमजन को भी इस महामारी से सुरक्षित करेंगे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।