चौकी प्रभारी के द्वारा कराया गया अंतिम संस्कार - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 16 June 2021

चौकी प्रभारी के द्वारा कराया गया अंतिम संस्कार

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

चौकी प्रभारी के द्वारा कराया गया अंतिम संस्कार

वाराणसी के थाना सारनाथ अंतर्गत बरईपुर निवासी जद्दू पाल की अचानक मौत होने के बाद ग्रामीणों द्वारा मृतक शरीर को लेकर सराय मोहाना स्थित, गंगा नदी के किनारे मसान घाट पर  पहुंचते हैं,

 लेकिन दुखद बात यह रही कि मृतक की पत्नी के पास अंतिम दाह संस्कार करने के लिए गरीबी व लॉक डाउन का मार झेल रही इस राजकुमारी के पास लकड़ी तक के पैसे नहीं थे,
 जिसके बाद महिला अपनी दुख भरी कहानी सुनाते हुए सराय मोहाना चौकी प्रभारी अभय सिंह  को सारी बातें बताते हुए रो पड़ी और आंखों से आंसू छलक पड़े,

 जिसके बाद चौकी प्रभारी अभय सिंह संवेदना पूर्वक महिला को सांत्वना देते हुए तत्काल अपने सहयोगियों के साथ गंगा नदी के किनारे  मसान घाट पहुंचे और अपनी तरफ से लकड़ी खरीद कर इस गरीब परिवार का सहारा बनते हुए मृतक का अंतिम दाह संस्कार
कराया,

 और मौके पर खुद मौजूद होकर एक मानवता का मिसाल पेश किए ,

वही दरोगा अभय सिंह के द्वारा अक्सर देखा जाता है कि हर गरीब का संभव मदद करने के लिए तत्पर खड़े रहते हैं

 पिछले वर्ष लाक डाउन में अभय सिंह के द्वारा थाना सारनाथ क्षेत्र के सराय मोहाना चौकी अंतर्गत  सैकड़ों गरीब बेसहारा लोगों को अपनी तरफ से राशन , दवा कपड़ा इत्यादि वितरण किया गया था,

 जब दरोगा अभय सिंह से पूछा गया कि आप ऐसा क्यों करते हैं तो उन्होंने कहा

इस समाज के लिए मैं हर संभव मदद करता हूं और आगे भी करता रहूंगा, क्योंकि मेरे मानवता और संस्कार से जुड़ी हुई यह बातें हैं,

ऐसी सराहनीय कार्य को देखते हुए, दरोगा अभय सिंह के नाम का
 क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है,

 ऐसे सराहनीय कार्य से समूचे खाकी वर्दी को सम्मान देते हुए शत शत नमन किया जाता है, 

जो समूचे खाकी वर्दी का सम्मान बढ़ाते हैं

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।