Test Ad
मण्डलायुक्त ने मा.मुख्यमन्त्री डैशबोर्ड के आधार पर की विकास कार्यक्रमों की समीक्षा

मण्डलायुक्त ने मा.मुख्यमन्त्री डैशबोर्ड के आधार पर की विकास कार्यक्रमों की समीक्षा


उपेन्द्र कुमार पांडेय


जिलाधिकारी बैठक कर डैशबोर्ड पर सूचनायें फीड कराने के सम्बन्ध में अवगत करायें: मण्डलायुक्त


 आज़मगढ़  ::मण्डलायुक्त मनीष चौहान ने शुक्रवार को अपने कार्यालय सभागार में आयोजित विकास कार्यक्रमों की मण्डलीय समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि आईजीआरएस सन्दर्भों के समयान्तर्गत निस्तारण के प्रति पूरी गंभीरता बरती जाय, इसमें शिथिलता और लापरवाही बरतने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाय। उन्होंने मा.मुख्यमन्त्री डैशबोर्ड के आधार पर मण्डल के जनपदों में संचालित विभिन्न कार्यक्रमों की प्रगति तथा उसके सापेक्ष प्राप्त ग्रेडिंग के आधार पर समीक्षा करते हुए तीनों जनपद के जिलाधिकारियों से कहा कि शासन स्तर से आईजीआरएस सन्दर्भों की नियमित रूप से समीक्षा की जाती है, इसलिए इसकी संवेदनशीलता को देखते हुए इसकी नियमित मानीटरिंग होनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने आईजीआरएस के नोडल अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि निस्तारण के प्रति सन्तोषजनक फीडबैक प्राप्त करने हेतु फील्ड स्तर के कर्मचारियों सक्रिय कर उनकी जवाबदेही तय करें। मण्डलायुक्त श्री चौहान ने समीक्षा में पाया कि कतिपय विभागों की प्रगति तो ठीक परन्तु उसकी सही फीडिंग नहीं होने के कारण ग्रेडिंग कम मिली है। इस पर उन्होंने तीनों जनपद के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि तत्काल बैठक कर सम्बन्धित विभागों को मा.मुख्यमन्त्री डैशबोर्ड पर सही सूचनायें फीड करने की प्रक्रिया से अवगत करायें, ताकि आगामी माह में अपेक्षित प्रगति परिलक्षित हो सके।मण्डलायुक्त श्री चौहान ने कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा करने एवं कब्जामुक्त कराने के उपरान्त पुनः कब्जा कर लिये जाने की शिकायतें मिलती रहती हैं। उन्होने निर्देश दिया कि ऐसी जमीनों को स्थायी रूप से कब्जामुक्त रखने के लिए अवैध कब्जाधारकों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही की जाय। उन्होंने तीनों जिलाधिकारियों को उनके जनपद से सम्बन्धित बार बार प्राप्त होने वाली शिकायतों का विवरण उपलब्ध कराते हुए उसका स्थायी निराकरण कराने का निर्देश दिया। उन्होंने विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान सीडीओ आज़मगढ़ ने बताया कि विभिन्न संचार माध्यमों से खराब ट्रान्सफार्मर नहीं बदलने की प्राप्त शिकायतें उनके द्वारा सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता को तत्समय ही भेज दी जाती है, परन्तु किसी भी अधिशासी अभियन्ता द्वारा उसका फीडबैक नहीं दिया जाता है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी आज़मगढ़ विशाल भारद्वाज ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जो भी शिकायतें प्राप्त हुई हैं तत्काल उसका स्थलीय निरीक्षण कर शिकायतों का निस्तारण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिया कि यदि शिकायतें सही नहीं है तो उसका संचार माध्यमों से उसका खण्ड जारी करें। उपश्रमायुक्त द्वारा अटल आवासीय विद्यालय में विद्युत आपूर्ति शिड्यूल के अनुसार नहीं होने के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। मण्डलायुक्त श्री चौहान ने इस सम्बन्ध में मुख्य अभियन्ता, विद्युत को निर्देश दिया कि तत्काल इस ओर ध्यान देकर आपूर्ति शिड्यूल के अनुसार सुनिश्चित करायें। उन्होंने आगाह किया कि अनियमित विद्युत आपूर्ति अथवा खराब ट्रान्सफार्मर के कारण असामान्य स्थिति उत्पन्न होना किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। श्री चौहान ने धान खरीद की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि जिन मिलों का अटैचमेन्ट अभी फाइनल नहीं हुआ उसे 3-4 दिन में फाइनल कर दें। उन्होंने जल जीवन मिशन के सम्बन्ध में स्थलीय सर्वेक्षण एवं रिपोर्ट के अन्तर को तत्काल दुरुस्त कराने हेतु सम्बन्धित अधीक्षण अभियन्ता को निर्देशित किया तथा कहा कि परियोजना से सम्बन्धित पूर्ण विवरण के साथ साइनबोर्ड अवश्य लगाया जाय। मण्डलायुक्त ने सभी मण्डलीय अधिकारियों को डैशबोर्ड पर अपनी फीडिंग ठीक कराने तथा नियमित रूप से पोर्टल को स्वयं चेक करने की हिदायत दी। बैठक में तीनों जनपद के जिलाधिकारियों द्वारा राजस्व वादों के निस्तारण की कार्ययोजना तथा राजस्व वसूली पत्रों के ऑनलाइन अंकन एवं वसूली की कार्ययोजना के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी आज़मगढ़ विशाल भारद्वाज, जिलाधिकारी मऊ अरुण कुमार, जिलाधिकारी बलिया रवीन्द्र कुमार, अपर आयुक्त (प्रशासन) कमलेश कुमार अवस्थी, मुख्य विकास अधिकारी आज़मगढ़ श्रीप्रकाश गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी बलिया ओजस्वी राज, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) आज़मगढ़ एबी सिंह, संयुक्त विकास आयुक्त महेश नारायण पाण्डेय, मुख्य अभियन्ता, विद्युत आशुतोष श्रीवास्तव, जिला विकास अधिकारी मऊ उमेश चन्द तिवारी, अपर निदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य डा. माधुरी सिंह, मण्डलीय अर्थ एवं संख्याधिकारी डा. नीरज श्रीवास्तव व हेमन्त कुमार, उप निदेशक, समाज कल्याण आरके चौरसिया, उप निदेशक, दिव्यांगजन सशक्तीकरण मीनू सिंह, उप निदेशक, मत्य एसके वर्मा, संयुक्त आयुक्त, उद्योग निरंजन चतुर्वेदी सहित अन्य विभागों के मण्डलीय अधिकारी मौजूद थे।

मण्डलायुक्त ने मा.मुख्यमन्त्री डैशबोर्ड के आधार पर की विकास कार्यक्रमों की समीक्षा
Admin
Share: | | |
Comments
Leave a comment

Advertisement

Test Sidebar Ad
Search

क्या है तहकीकात डिजिटल मीडिया

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।

Videos


" frameborder="0" class"c large aligncenter" style="border:none;">

" frameborder="0" class"c large aligncenter" style="border:none;">
Get In Touch

Call Us:
9454014312

Email ID:
tahkikatnews.in@gmail.com

Follow Us
Follow Us on Twitter
Follow Us on Facebook

© Tehkikaat News 2017. All Rights Reserved. Tehkikaat Digital Media Pvt. Ltd. Designed By: LNL Soft Pvt. LTD.