सांसद संजय के उपस्थित में सैकड़ो ने थामा आप का दामन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 5 October 2020

सांसद संजय के उपस्थित में सैकड़ो ने थामा आप का दामन

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

सांसद संजय  के उपस्थित में सैकड़ो ने थामा आप का दामन

हाथरस मामले में सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में हो सीबीआई जांच :संजय सिंह


लखनऊ 04 अक्तूबर 2020

आम आदमी पार्टी ने प्रदेश में सत्ता और व्यवस्था परिवर्तन के लिए पहले ही पूरे प्रदेश में पंचायत चुनाव लड़ाने का एलान किया है। इसी क्रम में पूरे प्रदेश भर में लोग दिल्ली की केजरीवाल सरकार की नीतियों और कार्यकाल से प्रभावित होकर आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। रविवार को प्रदेश के वाराणसी जनपद में पंचायत में पदाधिकारी रहे व चुनाव लड़ चुके जिला पंचायत सदस्य, पूर्व प्रधान, बीडीसी, सामाजिक कार्यकर्ताओं समेत अन्य सैकड़ो लोग पार्टी में शामिल हुए। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने सभी को आम आदमी पार्टी की टोपी पहनाकर पार्टी में शामिल कराया। साथ ही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं व पदधिकारियों को गांव गांव जाकर कोरोना की महामारी में योगी सरकार की ओर से आक्सीमीटर,थर्मोमीटर व एनलाइजर की खरीद में घोटाले और कृषि विधेयक द्वारा किसानों को पूंजीपतियों के हाथ गिरवी रखे जाने की बात पहुंचाने को कहा| इसके पूर्व संजय जी का कछवां,मलदहिया, लहुराबीर, मैदागिन आदि स्थानों पर वाराणसी के साथियों ने जोरदार स्वागत किया।

वाराणसी में आयोजित पत्रकार वार्ता में आम आदमी पार्टी के सांसद और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने  कहा कि हाथरस को लेकर दिल्ली के जंतर मंतर से लेकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश को बहू बेटियों की कब्रगाह बना दिया है। पहले तो योगी सरकार ने हिंदू रीति रिवाज,धार्मिक परंपराओं और संस्कृति को दरकिनार कर पेट्रोल छिड़ककर बच्ची के शव को जला दिया| और सबूत नष्ट करने के बाद बिना अदालत की सुनवाई और फैसले के प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार कह रहे हैं कि बलात्कार तो हुआ ही नहीं। जबकि बच्ची ने  अपने बयान में बलात्कार की बात कही थी।

उन्होंने आरोप लगाया कि सब कुछ योगी और उनकी सरकार के निर्देश पर हुआ है । उन्होंने आगे कहा की हाथरस के डीएम को इसलिए बचाया जा रहा है डीएम के पास सीएम के राज हैं और वो पद से हटाए जाने पर राज खोल सकते हैं। 

उन्होंने मांग की लखनऊ के सत्ता के गलियारों से लेकर जिलाधिकारी तक के फोन कॉल डिटेल सामने आने चाहिए। उन्होंने कहा की उनके पास कुछ ऐसे सबूत आए हैं,जिसके उजागर होने पर इस देश के लोगों को पता चलेगा कि किस तरीके से ऊपर से निर्देशजिलाधिकारी को दिया गया।

उन्होंने योगी सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा की कभी भी नार्को टेस्ट प्रशासन नहीं कराता,नार्को टेस्ट का आदेश अदालत करती है,लेकिन योगी जी कह कर रहे हैं वादी और प्रतिवादी का नार्को टेस्ट होगा।ऐसे में एसआईटी की जांच से न्याय मिलना कतई संभव नहीं है। 

आम आदमी पार्टी मांग करती है की पूरे प्रकरण की सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में सीबीआई से जांच कराई जाए। उन्होंने योगी सरकार की महिला सुरक्षा के मामले में विफलता पर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा की योगी को अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है और उन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए|

उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में बहू बेटियां सुरक्षित नहीं है।जौनपुर के मड़ियाहूं में, लखीमपुर खीरी में, आजमगढ़,फतेहपुर,बागपत,हाथरस व बलरामपुर में तथा बगल के भदोही में बच्ची के साथ बलात्कार कर निर्ममता से हत्या कर दी गई। 'बेटी बचाओ' का नारा देने वाले और अपने आप को 'चौकीदार' कहने वाले लोग आज सात दरवाजे के पीछे मुंह पर कालिख लगाकर छुपे हुए हैं।


हाथरस प्रकरण पर बोलते हुए उन्होंने कहा की 8 दिन तक एफआईआर नहीं लिखी गई,15 दिन तक ठीक से इलाज नहीं मिला।मरणासन्न हो गई तो दिल्ली भेजा। एम्स में उसको बेड नहीं मिला और बच्ची की मौत हो गई। मां बिलख बिलख कर कहती रही, एक बार बेटी का चेहरा तो देख लेने दो, लेकिन चेहरा नहीं देखने दिया। योगी जी आपको कितना अहंकार है,किस तरह से आप उत्तर प्रदेश की सत्ता को चलाना चाहते हैं। कितना लोगों के अधिकारों को कुचलना चाहते हैं। आपका ही पुलिस अधिकारी कहता है कि स्वीकार कीजिए, आप से कुछ गलती हुई है। सवाल उठाया क्या गलती हुई बच्ची से? यह की उसके गले की हड्डी तोड़ दी गई, उसकी जुबान काट दी गई,उसके साथ बलात्कार किया गया। यह कि उसने गरीब परिवार में जन्म लिया।

आप सांसद ने कहा कि योगी जी ने एसपी,सीओ और थाना प्रभारी को सस्पेंड किया,लेकिन घटना में जो सबसे ज्यादा जिम्मेदार है, जिसके कुकर्म मीडिया के सामने कैमरों में कैद हुए हैं, जो परिवार को खुलेआम धमकाते हुए देखा गया, जिसके वीडियो वायरल हो रहे हैं,जिसने पत्रकारों को धमकाया, लाठियां चलवाई। उस डीएम पर कोई कार्रवाई नहीं की। बगैर ऊपर के निर्देश के किसी भी हालत में इतना रिस्क लेकर पूरा का पूरा प्रशासन तंत्र उन दरिंदों को बचाने की कोशिश नहीं करेगा,इसका मतलब सीधे योगी जी के निर्देश पर दोषियों को बचाया गया। डीएम के पास इसका पूरा ब्यौरा होगा। वह सीएम की पोल न खोल दें, इसलिए उसको बचाया गया।

प्रदेश प्रभारी ने कहा कि जातिवादी सरकार कभी भी  जनता के साथ न्याय नहीं कर सकती। सभी को जातिवाद का खुलकर विरोध करना चाहिए जिससे प्रदेश के 24 करोड़ जनता का भला हो सके और विकास हो सके। उन्होंने कहा कि आज के हालात आपातकाल से भी ज्यादा खतरनाक हैं। योगी और मोदी दोनों तानाशाह है। मेरे ऊपर सरकार ने 14 मुकदमे लिखवा दिए देशद्रोह लगवा दिया।हम सत्ता के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं तो हमको पता है कि सरकार क्या क्या करेगी? रोने का काम तो कायर (योगी आदित्यनाथ)करते हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में आप की बड़ी लोकप्रियता 

आम आदमी पार्टी ने पूरी ताकत से उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव लड़ने के लिए पहले ही एलान कर चुकी है।इसी कड़ी में पंचायत से जुड़े प्रधान, पूर्व प्रधानों,बीडीसी व अन्य लगातार पार्टी का दामन थाम रहे हैं।

शनिवार को वाराणसी में हुए कार्यक्रम में प्रदेश प्रभारी/ राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने पंचायत का चुनाव जीते,पूर्व पार्षद नगर निगम,bjp, bsp, सपा तथा अन्य दलों से आये सैकड़ो लोगों को पार्टी की टोपी पहना कर पार्टी की सदयस्ता दिलाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष कैलाश पटेल ने किया।
 मौके पर प्रदेश के सहप्रभारी नदीम असरफ जायसी, प्रदेश सहप्रभारी अभिनव राय, प्रदेश उपाध्यक्ष कैप्टन सरबजीत सिंह मक्कड़, प्रदेश प्रवक्ता/जिला प्रभारी मुकेश सिंह, प्रदेश सचिव अब्दुल्लाह खां, प्रदेश सचिव देवकांत वर्मा,प्रदेश सचिव महिला विंग रेखा जायसवाल, प्रदेश सचिव युथ विंग आशीष सिंह, प्रदेश सचिव अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ एजाज अहमद, प्रदेश सचिव युथ विंग रोशन वर्मा, प्रदेश सचिव छात्र विंग ईष्टदेव पांडेय, युथ विंग के जिलाध्यक्ष मनीष कसौधन, अब्दुल रकीब, सौरभ यादव, महफूज अहमद, आर. के. उपाध्याय, अमर सिंह, सुभाष वर्मा, दीपक सिंह, पल्लवी वर्मा, मोहिनी महेंद्रू, मधु भारती, रामाश्रय पटेल समेत अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे। 
कार्यक्रम का संचालन संयुक्त रूप से मनीष गुप्ता, अरविंद पटेल ने किया।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।