अखिलेश यादव ने सभी को रक्षा बन्धन पर्व की शुभकामनाएॅ दी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 26 August 2018

अखिलेश यादव ने सभी को रक्षा बन्धन पर्व की शुभकामनाएॅ दी


लखनऊ ब्यूरो- महेंद्र मिश्रा 

भाई-बहन के अटूट रिश्ते के प्रतीक पर्व रक्षाबन्धन पर आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आई महिलाओं ने राखी बाॅधी। इनमें बड़ी संख्या में गरीब परिवारों की बहनें, बुजुर्ग महिलाएॅ, मुस्लिम महिलाएॅ तथा छोटी-छोटी बच्चियों भी थी। 

अखिलेश  यादव ने सभी को रक्षा बन्धन पर्व की शुभकामनाएॅ दी और सुख समृद्धि की कामना किया।  यशभारती सम्मान प्राप्त पं0 हरि प्रसाद मिश्रा ने स्वस्तिवाचन किया और मंत्रोच्चार के साथ रक्षासूत्र बांधा। राज्य महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष श्रीमती जानकी पाल, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती गीता सिंह, समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्र की पुत्री श्रीमती मीना तिवारी, पूर्व सांसद मोहन सिंह की पुत्री पूर्व सांसद श्रीमती कनकलता सिंह, तथा नबाब मसूद अब्दुल्ला, शीशमहल लखनऊ की बेगम साहिबा, स्टूडेन्ट लीडर सुश्री पूजा शुक्ला, सुश्री नेहा यादव, सुश्री रमा यादव, श्रीमती रोमिला नीलम सिंह आदि ने भी  अखिलेश यादव को राखी बाॅधी। बुजुुर्ग महिलाओं ने अखिलेश  यादव को आशीर्वाद दिया। 

अखिलेश यादव को सुल्तानपुर, बाराबंकी, सीतापुर, कन्नौज, गोण्डा, इलाहाबाद, खलीलाबाद, बलिया, लखीमपुर खीरी से आई महिलाओं ने भी राखी बाॅधी। 

         
बहनों नेअखिलेश यादव को विश्वास दिलाया कि वे सब उनके साथ हैं और ऐसे लोगों के विरूद्ध हैं जो बहनों के मान सम्मान की रक्षा नहीं कर सकते हैं। 


        
 प्रदेश में रोजाना महिलाओं और बच्चियो के साथ दुष्कर्म हो रहे हैं जबकि बार-बार उनकी सुरक्षा के झूठे वादे और बयान दिए जाते हैं। जो सरकार माॅ-बहनों की सुरक्षा भी न कर सके वह निकम्मी सरकार पद पर बने रहने के काबिल नहीं। 
        
 इस अवसर पर महिलाओं ने चर्चा की कि  अखिलेश यादव की समाजवादी सरकार के समय महिलाओं को उत्पीड़न से बचाने के लिए 1090 वूमेन पावर लाइन सेवा प्रारम्भ की गई थी जिससे महिलाओें को काफी राहत मिली थी। अपराध नियंत्रण के लिए यूपी डायल 100 सेवा शुरू की गई थी। इन सबको भाजपा सरकार ने बर्बाद कर दिया। आज तो यह स्थिति हैं कि महिलाओं और बच्चियों का सड़कों पर निकलना और स्कूल जाना तक मुश्किल हो गया। अपराधों पर रोक न लगने से कई लड़कियों ने लोकलाज वंश फाॅसी लगाकर अपनी जान दे दी। भाजपा महिलाओं के मामले में अत्यंत संवेदन शून्य होने का परिचय दे रही हैं।

No comments:

Post a Comment