नौजवान और शिक्षामित्र आत्महत्या कर रहे हैं-अखिलेश यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 6 October 2018

नौजवान और शिक्षामित्र आत्महत्या कर रहे हैं-अखिलेश यादव

लखनऊ - महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश 


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार में शिक्षा व्यवस्था में सबसे ज्यादा गड़बड़ हो गई है। न शिक्षा सत्र नियमित है और नहीं शिक्षकों का सम्मान हो रहा है। सरकार को विद्यार्थियों की चिंता नहीं। नौजवान और शिक्षामित्र आत्महत्या कर रहे हैं। जनप्रतिनिधियों की शिकायत तक नहीं सुनी जाती है। भाजपा के कारनामों से क्षुब्ध जनता भाजपा को हटाना चाहती है। उसका भरोसा सरकार पर नहीं रह गया है। इसलिए समाजवादी पार्टी चाहती है कि बैलट के जरिए चुनाव हो।




अखिलेश यादव आज पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में वरिष्ठ शिक्षक सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। इसके आयोजक प्रो0 अमरीक सिंह तथा कार्यक्रम संचालक प्रो0 बी.के. सिंह थे। सम्मेलन में पूर्व कुलपति प्रो0 एम.जेड. खान, प्रो0 नरसिंह, प्रो0 बी. कुंवर आदि शिक्षा विशेषज्ञ षामिल थे। इनके अतिरिक्त अहमद हसन, राजेन्द्र चौधरी , नरेश उत्तम पटेल, एस.आर.एस. यादव, तथा उदयवीर सिंह एम.एल.सी. भी मौजूद रहे।
    
 
 
शिक्षाविदों ने कहा कि राजनीति में खोखलापन की स्थिति में उन सबकी आशा समाजवादी पार्टी और इसके अध्यक्ष अखिलेश यादव से ही है। उन्होंने सर्व प्रथम शिक्षकों-कर्मियों को सातवां वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप वेतन दिया था। भाजपा सरकार ने तो पेंशन ही रोक दी थी। शिक्षक समाज अपने विचारों से समाजवादी पार्टी का सहयोग करेंगे। 
     
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा झूठे वादे करने और भटकाने की कला में माहिर है। मेक-इन-इण्डिया के नाम पर मेड-इन-चाईना का जोर है। बाजार चीनी सामान से पटा पड़ा है। वैश्विक स्तर पर भारत के विश्वविद्यालयों की गणना न होना शर्मनाक है। स्वदेशी आन्दोलन का बुरा हाल है। लोकतंत्र में जनता की बात सुनना सŸााधारियों को पसंद नहीं। 
    
 
 
अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने यूपी डायल 100 की व्यवस्था की थी। इस नम्बर से काल करने पर 10-15 मिनट में पुलिस घटना स्थल पर पहुंच जाती। महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 सेवा शुरू की गई थी। समाजवादी सरकार में 18 लाख लैपटाप बांटे गए। भाजपा सरकार से इस तरह की आशा करना बेकार है। यहां प्राथमिक विद्यालयों की स्थिति को सुधारा जाना चाहिए। समाजवादी सरकार ने नई डिजायन के प्राइमरी स्कूल बनाने की शुरूआत की थी किन्तु भाजपा सरकार ने उसे बर्बाद कर दिया। 
    
उन्होंने कहा कि इसी तरह अगर चीन का सामान ज्यादा आया तो हमारे इंजीनियर कहां खपेंगे? भाजपा ने आनलाईन पर इतना जोर दिया कि बच्चों तक के चश्में लग गए हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा कैंसर, हार्ट, किडनी और डायबिटीज के मरीज भारत में हैं। इनके मुफ्त इलाज की व्यवस्था समाजवादी सरकार ने की थी लेकिन भाजपा ने स्वास्थ्य व्यवस्था भी चैपट कर दी। लखनऊ में जो कैंसर इंस्टीट्यूट बनाया था उसे भी भाजपा सरकार चालू नहीं कर पाई। 
    
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार प्रशासन का दुरूपयोग कर रही है। लोकतंत्र में सत्ता का दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। सन् 2017 तक जो हुआ वह विकास का पत्थर है। अब जो हो रहा है वह कुछ नहीं है सिवाय विनाश के। 
     
अखिलेश यादव ने कहा यह कैसी विडम्बना है कि तोड़ो और राज करो की कूटनीति हमेशा रही है। पर यह कैसी स्थिति है कि अब अपने देश में ही समाज को तोड़ा जा रहा है अपने ही देश की सरकार द्वारा।

No comments:

Post a Comment