फर्रुखाबाद- जनपद में पुलिस की एक अनोखी पहल - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 29 October 2018

फर्रुखाबाद- जनपद में पुलिस की एक अनोखी पहल



रिपोर्ट-पुनीत मिश्रा

फर्रुखाबाद- जनपद में पुलिस की एक अनोखी पहल ने जिले में अलग अलग थानों में दर्ज परिबारिक झगडे दहेज प्रथा समेत पति पत्नी के बीच मारपीट के मुकदमो में सभी को आमने सामने बैठा कर सुलह समझौता करबा दिया ख़ास बात यह रही जिन बातो से आपसी कलह पति पत्नियों के बीच होती थी उनको फिर से न दोहराने की कसम भी एसपी ने खिला दी साथ ही मीठा खिला कर घर के लिए पुलिस लाइन से बिदा किया फिर क्या था जिले के सभी थानों में तक़रीबन 50 दम्पति जोड़े आज फिर एक साथ हो गए और अपना जीबन यापन नए सिरे से शुरू कर दिया एसपी ने सभी  दम्पति जोड़ो के लिए करबा चौथ पर इसकी विशेष पहल कर मित्र पुलिस के सपने को साकार तो किया ही बही पुलिस का नायाब चेहरा भी जनता के सामने रख दिया पुलिस की इस बिशेष पहल को जनता भी खूब सराह रही है 

बही उन परिवारो का ख़ुशी का ठिकाना नहीं था जिनकी जिंदगी आपसी झगडे में फस कर जहन्नुम बन गयी थी पुलिस थानों के चक्कर लगाने पड़ते समाज मे लोग कई प्रकार की बाते भी सुनाते थे। जिले के पुलिस लाइन सभागार में एसपी ने तक़रीबन 20 जोड़ो को मीडिया के सामने पेश किया लेकिन जिले के दूरदराज इलाके से कुछ दम्पति नहीं आ पाए बही कोतवाली फतेहगढ क्षेत्र की निबासी अमित कटियार व उनकी पत्नी के बीच पढ़ाई को लेकर बिबाद हो गया जिसमे पत्नी कीर्ति एम ए की पढ़ाई करना चाहती थी लेकिन परिजनों की बजह से पढ़ाई नहीं कर पायी और बिबाद इस कदर बढ़ा की होते होते परिजन पुलिस की दहलीज पर पहुच गए जिसके बाद एसपी ने जब पूरे मामले को समझा तो परिजनों फटकार लगाते हुए 

आगे की पढ़ाई करबाने के साथ दोनों का समझौता करबा दिया साथ मे यह भी कहा कि यदि आपकी वहू पढाई करके अपने पैरों पर खड़ी होकर आप लोगो का नाम ही रोशन करेगी।साथ ही साथ परिवार की आर्थिक स्थित मजबूत होगी। समझौते से अमित और कीर्ति के साथ उनकी एक साल की बच्ची अब अपने घर के आगन में ख़ुशी के साथ लौट गयी। वही ऐसे कई परिबार थे जिनमे पति शराव पीने का आदी होने के साथ घरेलू झगडे प्रमुख थे लेकिन इन सभी जोड़ी को परिबार के साथ बैठा कर महिला पुलिस के साथ बात की गयी और पुलिस व कोर्ट के चक्कर लगाने की बजाय अपने परिबार के साथ खुशनुमा जिंदगी विताने का मंत्र दिया।साथ मे उन्होंने कहा कि एक दूसरे पर विस्वास करना बहुत जरूरी है।जिससे कभी भी आपस मे झगड़ा नही होगा।अपने बुजुर्गों का सम्मान भी करना भी आवश्यक है 

No comments:

Post a Comment