कानपुर देहात - एक करोड 75 लाख की अवैध शराब बरामद - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tahkikat News: Latest Video.

Tuesday, 27 November 2018

कानपुर देहात - एक करोड 75 लाख की अवैध शराब बरामद

रिपोर्ट - अरविन्द शर्मा 

कानपुर देहात पुलिस के हाथ भारी मात्रा में अवैध शराब के साथ एक  आरोपी भी पुलिस के गिरफ्त में आ गया पकड़ी गई शराब की कीमत लगभग एक  करोड  75 लाख बताई जा रही है यह वह शराब है जो बिहार और गुजरात में सप्लाई की जाती है हर जिन प्रदेशों में शराब वैध है 


वहां पर यह शराब महंगे दामों में   बेची जाती है इसका खेल बड़े ही बृहत  तरीके से किया जाता है यही कारण  है कि शराब तो हर बार पकड़ी जाती है गाड़ियां पकड़ी जाती है गाड़ियों में बैठे लोग पकड़े जाते हैं लेकिन इसका मेन आरोपी पुलिस की गिरफ्त से हमेसा दूर रहता है


दरसल कानपुर देहात भोगनीपुर कोतवाली क्षेत्र की पुलिस ने सूचना पर 988 पेटी  एक ट्रक   हरियाणा की अवैध शराब बरामद की जिसकी कीमत एक करोड 75 लाख रुपए बताई जा रही है जिसमें एक  आरोपी भी पकड़ा गया है  हरियाणा से बिहार और गुजरात तक शराब पहुंचाने में प्रति चक्कर का 20 से 30 हजार रुपये  मिलता है  वही अवैध शराब में प्रयोग की जाने वाली गाड़ियों का नंबर भी फर्जी होता है और गाड़ियां भी वह चोरी की होती है वहीं पुलिस का कहना है की इन गाड़ियों को जब लोकेशन मिलता है तभी ये  गाड़ियां आगे उस रूट पर चलती है इनको कहां पर खाना खाना है 


कहां पर रुकना है इनकी जगह पहले से तय होती है और इनके पास एकCUG  मोबाइल भी दिया जाता है जो मालिक और ड्राइवर के बीच में वार्ता करने के लिए होता है उसी CUG  नंबर पर मालिक इनको लोकेशन देता है और उसी लोकेशन के अनुसार यह शराब को इधर से उधर पहुंचाने का काम करते हैं पकड़ी गई शराब सभी ब्रांडेड कंपनी की है  सवाल इस इस बात का है कि आखिरकार बार बार इसी जगह आखिरकार शराब का  जखीरा क्यों  पकड़ा जाता है हाल में  पुलिस ने 4 करोड 14 लाख सराब पकड़ी थी 



जिसकी पोल शराब माफिया ने ही खोल के रख दी  थी दरसल  यहाँ की पुलिस को गुड वर्क के चक्कर मे दूसरे जिले की शराब को कानपुर देहात में दिखा कर गुड वर्क करके वाहवाही लूटती है बरहाल  पुलिस भले ही  अवैध शराब पकड़ कर वाहवाही लूटने में लगी है लेकिन कहीं ना कहीं पुलिस के साए में यह अपराध फलता फूलता रहता है यही कारण  है कि आज तक इसका मेन आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर रहता है

No comments:

Post a Comment