बस्ती-फर्जी डिग्री लेकर भटकने को मजबूर पैरा मेडिकल के छात्र - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 9 November 2018

बस्ती-फर्जी डिग्री लेकर भटकने को मजबूर पैरा मेडिकल के छात्र

Image result for फर्जी डिग्री
जिला -संवाददाता बस्ती 
 
स्वास्थ्य विभाग की निगरानी के बावजूद एक के बाद एक काले कारनामे उजागर हो रहे हैं।
नया मामला

थाना कोतवाली के मड़वानगर में मां वैष्णो पैरा मेडिकल कालेज विवादों में घिर गया है।अभी खून का खेल संबंधी जांच का सच सामने आना शेष रहा तभी शहर के पैरा मेडिकल कालेज में पढ़ने वाले छात्र और छात्राओं ने फर्जी डिग्री देने का आरोप लगाते हुए डीएम के पास पहुचकर जांच की मांग करने लगे ।डीएम ने मामले की गंभीरता को देखते हुए त्वरित जांच का आदेश दे दिया

मां वैष्णो पैरा मेडिकल कालेज पिछले दो सालों से चल रहा है. जिसमें मेडिकल संबधी  कोर्स कराया जाता है।छात्राओं का आरोप है की इन से कोर्स की फीस के नाम पर 65 से 80 हजार रूपये शुल्क लिया गया, आरोप है, विद्यालय द्वारा दी गयी डिग्री फर्जी है । 

छात्रों का कहना है की जब इन लोगों ने डिग्री को रजिस्ट्रेशन कराने के लिए मेडिकल काउंसिल आफ उत्तर प्रदेश ले गए तो वहां की लिस्ट में मां वैष्णो पैरा मेडिकल कालेज के नाम का जिक्र ही नहीं था। पता करने पर उनको बताया गया की यह डिग्री फर्जी है।फर्जी डिग्री को लेकर पीड़ित छात्र और छात्राएं डीएम कार्यालय पर शिकायत लेकर पहुंचे,डीएम ने सी एम ओ को पत्र लिखकर उक्त प्रकरण की जांच के लिए निर्देशित किया।सी एम ओ ने जांच डिप्टी सी एमओ सीएल कन्नौजिया को सौपी, मां वैष्णो पैरा मेडिकल कालेज की जांच के दौरान कोई साक्ष्य विद्यालय प्रशासन द्वारा उपलब्ध नहीं कराया गया।बाद में वह लोग कुछ पेपर लेकर आए उसमें मेडिकल काउंसिल ऑफ इण्डिया का पत्र संलग्न तो है, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार का कोई पत्र न होने के कारण व मेडिकल काउंसिल ऑफ इण्डिया के पत्र में कहीं भी मां वैष्णो पैरा मेडिकल नाम का जिक्र नहीं है।जिससै पैरामेडिकल की मान्यता संदिग्ध हो गया है।

मेडिकल कॉउंसिल आफ उत्तर प्रदेश में जब छात्र मार्कशीट लेकर गए तो वहां पर बताया गया की यह कालेज हमारे यहां लिस्ट में नहीं है।छात्रो को रजिस्ट्रेशन से मना कर दिया गया,बहरहाल मामले की जांच चल रही है, लेकिन कालेज में पढ़ कर डिग्री लेने वाले सैकड़ों छात्र छात्राए डिग्री लेकर भटकने को मजबूर हो गये है। 

No comments:

Post a Comment