कानपुर देहात - पहले उड़ाई मछली दारू की दावत, फिर कुछ ऐसा हुआ कि गांव में मातम पसर गया - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 6 November 2018

कानपुर देहात - पहले उड़ाई मछली दारू की दावत, फिर कुछ ऐसा हुआ कि गांव में मातम पसर गया

रिपोर्ट - अरविन्द शर्मा

दोस्तों के साथ दावत उड़ाना दो युवकों को बेहद महंगा पड़ गया। कानपुर देहात के रसूलाबाद थाना क्षेत्र के बन्दरहा गांव में उस समय हडकंप मच गया। जब दो युवक रक्त रंजित हालत में मिले, जिसमें एक युवक की मौत हो चुकी थी,



वहीं दूसरा मरणासन्न अवस्था में पाया गया। ग्रामीणों ने तत्काल पुलिस को घटना की सूचना दी मौके पर पहुंची पुलिस ने फोरेंसिक टीम बुलाकर घटनास्थल से साक्ष्य संकलित कराए। ग्रामीणों के अनुसार बीती रात गांव के युवकों ने गांव के मुर्गी फार्म के समीप दावत की थी। उसी दौरान किसी बात को लेकर विवाद हुआ। इस बीच दो युवकों पर जमकर हमला हुआ, जिससे एक की मौत मौके पर हो गयी, दूसरा गंभीर हालत में पाया गया। हालांकि हत्यारों ने साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से दोनों को मृत समझकर नहर किनारे फेंक दिया था। फिलहाल समझा बुझाकर पुलिस ने शवों को पीएम के लिए भेजते हुए करीब आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूंछतांछ शुरू की है।

पुलिस को घटना स्थल से मिला ये सामान

मर्डर होने की घटना की सूचना पाकर जब भारी पुलिस फोर्स के साथ रसूलाबाद पुलिस क्षेत्राधिकारी बैजनाथ व थानाध्यक्ष सुशील कुमार पहुंचे। जहां उन्हें नहर पटरी किनारे एक मृत व एक मरणासन्न युवक मिला। इसके समीप ही बिखरा खून, मछलियों को पकाने वाली कढ़ाई, रक्त रंजित ईंट, सरिया व कुल्हाड़ी सहित 14 खाली क्वार्टर पुलिस ने बरामद किए।
 
 
 
मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने सभी के नमूने संकलित किये हैं। पुलिस के अनुसार मृतक संतोष उर्फ सिंटू के हाँथ आटे से सने हुए थे और मरणासन्न लाल बहादुर अपने हांथो में रोटी पकड़े हुये था। प्रथम दृष्टया कोई दावत होने की बात सामने आई। फिलहाल घायल लाल बहादुर को हैलट रेफर किया गया है। मौके पर पुलिस कप्तान राधेश्याम विश्वकर्मा भी पहुंचे।

ग्रामीणों में रही चर्चा

ग्रामीणों के अनुसार गांव में आसाराम यादव का मुर्गी फसर्म है, जो कि 6 वर्षों से बंद पड़ा है। इसमें अब भूसा भरा रहता है। जहां मृतक सिंटू और लाल बहादुर मछली व दारू की दावत करने गए थे। यहां गांव के जयकरन, राजू, प्रेमचंद्र, दीपक, रिंकू, जोत निवासी पुतईं, मेघजाल निवासी चंद्रपाल भी दावत में शामिल थे। इसके बाद सुबह दोनों इस हालत में पाए गए। मुर्गी फार्म से 200 मीटर दूर नहर किनारे सड़क पर सिंटू मृत व लाल बहादुर गंभीर मिला। वहीं एक चद्दर व कंबल भी मिला है।

बोले थानाध्यक्ष

थानाध्यक्ष सुशील कुमार सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मामले का शीघ्र खुलासा किया जाएगा। पूंछतांछ के लिए प्रेमचंद्र, दीपक, राजू, रिंकू, जयकरन निवासीगण बन्दरहा, विक्रम व बबलू निवासी मेघजाल एवं सूरज, रवि निवासी तिर्वा आदि लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसमें सूरज व रवि अपने मामा रामलखन के यहां आए थे। दीपक इनका ममेरा भाई है।

No comments:

Post a Comment