कानपुर - टेनरी बन्दी के आदेश के बाद , टेनरीज एसोसिएशन ने बुलाई बैठक कहा बन्दी के बाद हो जायेगे भुखमरी के हालात - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 20 November 2018

कानपुर - टेनरी बन्दी के आदेश के बाद , टेनरीज एसोसिएशन ने बुलाई बैठक कहा बन्दी के बाद हो जायेगे भुखमरी के हालात

ब्यूरो कानपुर - रवि गुप्ता
 
कामन एफ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) पूरी तरह संचालित न हो पाने के कारण उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जाजमऊ स्थित लगभग 250 टेनरियों को बन्द करने का आदेश दिया है। यह कार्यवाई जिलाधिकारी की जांच रिपोर्ट के आधार पर की गई है। जिसको लेकर स्माल टेनरीज एसोसिएशन  में आज सभी टेनरियों के मालिकों ने इस मामले को लेकर एक बैठक की जहां उनका कहना है कि इस तरह टेनरियों के बन्द हो जाने से तो लाखों मजदूर भुखमरी के कगार पर आ जाएंगे और बच्चो का पेट पालने के लिए गरीब वर्ग का आदमी गलत काम भी कर सकते हैं।

 
 
बात की जाएगी नही तो मजबूरन आंदोलन के लिए बाध्य होंगे

आपको बता दें कि अगले वर्ष प्रयागराज में कुंभ मेले को देखते हुए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इस साल 16 मई को जाजमऊ स्थित सीईटीपी और पम्पिंग स्टेशनों की मरमत के लिए 17.88 करोड़ रुपये दिए गए थे और इसके लिए इसकी मॉनिटरिंग जिलाधिकारी कर रहे थे हर सप्ताह इसकी प्रगति रिपोर्ट देने के लिए कहा गया था और इस सीईटीपी का पूर्ण क्षमता का संचालन 12 नवम्बर तक हर हाल में होना था 
 
 
लेकिन यह संचालित नही हो सका जिसके बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने यहाँ की 250 से ज्यादा टेनरियों के संचालन को बन्द करने के आदेश दे दिए और नोटिस चिपका दिया गया। जिसके बाद टेनरियों के बन्द होने की सूचना पर टेनरियों में सन्नाटा पसर गया और आनन फानन में स्माल टेनरीज एसोसिएशन के अध्यक्ष हफीजुर्रहमान ने टेनरी मालिकों को बुलाकर एक बैठक की। जाजमऊ स्थित लगभग छोटी बड़ी मिलाकर 400 टेनरियाँ है जिसमें कुछ बन्द हो गयी और लगभग 280 से ज्यादा टेनरियां रनिंग में है उन्होंने बताया कि घर मे शादी का माहौल है और टेनरी शादी का काम करना दूभर हो गया है इस तरह बन्द कर दी जा रही है ऐसे तो लगता है हमे शादी के दौरान बेइज्जती का सामना करना पड़ेगा शासन को हम सभी की परेशानी समझनी चाहिए। 
 
 
कुछ टेनरियों में नोटिस चिपका दिया गया है उसमें यह लिखा है कि जल निगम नाले सभी टेप किये है जिससे पानी बराबर सीईटीपी में जा नही रहा है जब तक जल निगम के लोग अपनी कमी को दूर नही करते है सीईटीपी को चारो पम्पिंग स्टेशन्स को जोड़ते नही है तब तक टेनरियां बन्द रहेंगी इस तरह की बन्दी से टेनरी उद्योग को करोड़ो का नुकसान होगा समय की कोई पाबंदी नही है कि कितने दिन बन्द रहेगी। 
 
 
 
 
 
टेनरी संचालक रहमान ने बताया कि टेनरी उद्योग से लगभग 4 लाख लेबर है और उनसे उनका परिवार का पालन पोषण होता है और एक दम से यह टेनरी उद्योग बन्द हो जाएगा तो भुखमरी की नौबत आ जायेगी और लोग बच्चो का पेट पालने के लिए गलत काम शुरू कर देंगे। वहीँ इकबाल ने बताया कि एकदम से आदेश आता है कि टेनरिया बन्द हो गयी उन टेनरियों में महिलाए भी काम करती है छोटे छोटे रोजगार और गरीब वर्ग के लोग अस्त व्यस्त हो जाएंगे हम सभी इस मामले में बात करेंगे यदि इसके बाद भी कोई रास्ता नही निकलेगा तो भुखमरी तो निश्चित है और मजबूरन सड़को पर उतरकर आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

No comments:

Post a Comment