लखनऊ - 11 दिन तक चलेगा उत्तर प्रदेश महोत्सव यूपी की सांस्कृतिक विरासत का होगा अनोखा संगम - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 20 December 2018

लखनऊ - 11 दिन तक चलेगा उत्तर प्रदेश महोत्सव यूपी की सांस्कृतिक विरासत का होगा अनोखा संगम

महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश
 
लखनऊ में स्वच्छता शिक्षा को लेकर कार्यरत संस्था सृजन फाउंडेशन द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन योगिक ट्रीटमेंट (योग केंद्र), लखनऊ यूनिवर्सिटी के सामने किया गया। इस प्रेस वार्ता में सृजन फाउंडेशन द्वारा आयोजित किये जाने वाले उत्तर प्रदेश महोत्सव 2019 का पोस्टर लांच किया गया।

 

संस्था के अध्यक्ष डॉ अमित सक्सेना ने बताया कि उत्तर प्रदेश का यह नामकरण 24 जनवरी 1950 को हुआ था। उसके पहले इसे संयुक्त प्रान्त के नाम से जाना चाहता था। उत्तर प्रदेश नाम पंडित गोविंद बल्लभ पंत जी ने दिया था। पंत जी के बाद राजनाथ एक मात्र ऐसे राजनेता हैं जिन्होंने कि उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री और देश के गृह मंत्री की बागडोर संभाली है।

डॉ. अमित ने बताया कि सृजन फाउंडेशन पिछले तीन वर्षों से 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस का आयोजन करता आया है। पिछले वर्ष उत्तर प्रदेश सरकार ने भी 24 जनवरीको उत्तर प्रदेश दिवस घोषित कर दिया है।

 

संस्था के सचिव अरुण प्रताप सिंह ने बताया कि वर्ष 2019 में संस्था द्वारा 24 जनवरी, 2019 से 3 फरवरी 2019 तक 11 दिवसीय उत्तर प्रदेश महोत्सव 2019 का वृहद स्तर पर आयोजन झूलेलाल वाटिका में किया जा रहा है। जिसमे उत्तर प्रदेश की विभिन्न संस्कृतियों की झलक को विभिन्न कार्यक्रम के माध्यम से प्रस्तुत किया जाएगा। इसमें बच्चों के लिए प्रतियोगिताएं, सांस्कृतिक कार्यक्रम, विभिन्न प्रकार के स्टाल्स के अतिरिक्त अलग-अलग क्षेत्रों (साहित्य, कला, समाजसेवा, खेलकूद, राजनीति, युवा, महिला, बाल) में उत्तर प्रदेश को गौरवान्वित करने वालों को सम्मनित भी किया जाएगा। कार्यक्रम में कई अधिकारियों राजनेताओं का समावेश रहेगा। उत्तर प्रदेश के कई औद्योगिक घराने जिन्होंने कि उत्तर प्रदेश को एक पहचान दिलाई है को भी इसमें शामिल किए जाने का प्रयास चल रहा है।

पोस्टर लांच में अरुण प्रताप सिंह, डॉ.अमित सक्सेना, स्वाति जैन, अरुणा शर्मा, डॉ. अर्चना सक्सेना, अनूप सक्सेना, पूजा माहेश्वरी, आलोक सिंह, संजय जैन, मनोज कुमार, राखी अग्रवाल आदि मौजूद रहे

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।