फर्रुखाबाद- देश का हर रंग दिखा आर्मी स्कूल के वार्षिक स्पोर्ट्स उत्सव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 16 December 2018

फर्रुखाबाद- देश का हर रंग दिखा आर्मी स्कूल के वार्षिक स्पोर्ट्स उत्सव

  रिपोर्ट - पुनीत मिश्रा


फतेहगढ़ आर्मी सेंटर में तीन रेजिमेंट तैनात है जो भी सैनिक व अधिकारी नौकरी कर रहे है वह देश के हर राज्य से आते है उन्ही के बच्चो की पढ़ाई आर्मी पब्लिक स्कूल में होती है।

 


आर्मी पब्लिक स्कूल के खेल कूद के वार्षिकोत्सव के समापन पर छात्र छात्राओं द्वारा खेल कूद के साथ भारतीय संस्कृति की छठा बिखेरी गई उसको देखकर हर सैनिक व सिविल के लोग मंत्रमुग्ध हो गए थे।जिसका मुख्य कारण समापन के दौरान वेद मंत्रों का उच्चारण,देश भक्ति से ओतप्रोत डांस,गुजराती नृत्य,मराठी नृत्य,असम का नृत्य,पंजाबी नृत्य,भारतीय संस्कृति पर आधारित नृत्य से लोग अपनी निगाहे उनके द्वारा प्रस्तुत किये जा रहे कार्यक्रमो को देख रहे थे।

वही बच्चो ने रमन स्टेडियम में पीटी व कसरत करने के साथ योग करके दिखाने के साथ सभी को सन्देश दिया कि वह अपने शरीर को किस प्रकार से स्वस्थ्य रखा जाये।जिससे शरीर की सभी मासपेशियां सुचारू रूप से बुढापे तक भली प्रकार से काम कर सके।अपने अपने बच्चों के हौसले को बढाने के लिए सभी बच्चो के माता पिता पूरे कार्यक्रम में मौजूद रहे है।वार्षिक उत्सव में विजय छात्र छात्राओं को सिखलाई रेजिमेन्ट के डिप्टी कमांडेंट के द्वारा सम्मानित किया गया है।



आर्मी स्कूल के प्रधानाचार्य- अक्षय श्रीवास्तव ने बताया कि हमारे स्कूल के छात्र छात्राओं ने भारतीय संस्कृति की परंपराओं को एक धागे में पिरोने का काम किया है।जिससे देश के विभिन्न राज्यो के लोगो मे जो आपसी प्रेम सदियों से चला आ रहा है वह हमेशा बना रहे।देश की विभिन्न भाषाओं को हमारे स्कूल का हर बच्चा सीख सके।अपने भविष्य हर प्रतियोगिता में विजय हासिल कर सके

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।