कानपुर देहात - पुरानी रंजिश के चलते ,स्कूल में घुसकर स्कूल के स्टाफ समेत प्रबंधक से मारपीट - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 10 December 2018

कानपुर देहात - पुरानी रंजिश के चलते ,स्कूल में घुसकर स्कूल के स्टाफ समेत प्रबंधक से मारपीट

रिपोर्ट - अरविन्द शर्मा

जनपद कानपुर देहात में दबंगों ने अपनी पुरानी रंजिश निकालने के लिए कक्षा 4 की मासूम छात्रा पर भी राजनीति कर डाली और दबंगों की राजनीति के चलते छात्रा स्कूल की जगह पुलिस थाने पहुंची , दरअसल अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के एक स्कूल में दबंगों ने पुरानी रंजिश के चलते कक्षा चार की छात्रा का सहारा लेकर स्कूल में घुसकर स्कूल के स्टाफ समेत प्रबंधक से मारपीट की और इस मारपीट में एक छात्र समेत छात्रा के परिजन का सर भी फूटा लेकिन स्थानीय पुलिस ने दबंगों पर कार्यवाही न कर दोनों पक्षों पर अलग अलग दो मुकदमा लिख डाले, पुलिस की इस शर्मनाक कार्यशैली से स्कूल का शिक्षक स्टाफ शकते में है । 




दरअसल पूरा मामला कोतवाली अकबरपुर क्षेत्र के गांव रायपुर के स्कूल श्री सत्य साईं नाथ एकेडमी का है , जहां स्कूल के स्टाफ ने दबंगों का आरोप लगाते हुए बताया की पुरानी रंजिश के चलते कुछ गांव वाले व दूसरे विद्यालय के लोग मुझसे द्वेष भावना रखते हैं जिसके चलते आए दिन हमें प्रताड़ित करते रहते हैं लेकिन पूर्व में रजनी शाहू मेरे यहाँ शिक्षक थी जिनकी गतिविधियों को देख कर उनको विद्यालय से निकाल दिया गया था जिसके चलते वह विरोध मानने लगी और इसी द्वेष भावना के चलते एक षड्यंत्र रच कर कक्षा 4 की मासूम छात्रा इशिता का सहारा लेकर विद्यालय में कुछ दबंगों के साथ आई और प्रधानाचार्य समेत प्रबंधक के साथ मारपीट करने लगी जब मामला पुलिस थाने पहुंचा तो उक्त दबंगों ने छात्रा को आगे कर स्कूल प्रधानाचार्य के खिलाफ छात्रा से मारपीट का मामला बनाकर मुकदमा दर्ज करा दिया ।
 वहीं स्कूल के प्रधानाचार्य महोदया ने बताया कि वो जब कक्षा 5 के छात्रों को पढ़ा रही थी तभी पूर्व में रही शिक्षिका रजनी साहू व कुछ दबंग लोग अचानक से आकर उनके साथ मारपीट करने लगे और बेइज्जत किया वहीं अपने ऊपर लगे आरोपों पर उनका कहना था कि पुलिस ने बिना जांच किये मेरे ऊपर गलत मुकदमा दर्ज कर दिया है ।

वही जो पूरे मामले को लेकर कक्षा 4 के छात्र छात्राओं से बात की गई तो उन्होंने बताया विद्यालय में सभी शिक्षक अच्छे से पढ़ाते हैं और इशिता के साथ मारपीट की कोई घटना नहीं हुई है बल्कि इशिता को कोई प्रश्न ना आने की वजह से मेम डांट फटकार जरूर लगाई थी ,


जब प्रधानाचार्य के साथ हुई मारपीट को लेकर कक्षा 5 के छात्र-छात्राओं से बात की गई तो उन्होंने साफ तौर पर बताया की पूर्व में रहे शिक्षिका रजनी साहू कुछ लोगों के साथ क्लास में आई और प्रधानाध्यापिका के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने लगी ।

वहीं जब पूरे मामले को लेकर कक्षा 4 की छात्रा इशिता से बात की उसने बताया कि उसको स्कूल में प्रश्न पूछे जाने पर पीटा गया था और जब पूरे मामले को लेकर उसकी मौसी रजनी विद्यालय में पहुंची तो वहां कक्षा 10 के छात्र प्रबंधक के बेटे ने मारपीट शुरू कर दी ।
 जब पूरे मामले को लेकर अकबरपुर क्षेत्र के क्षेत्राधिकारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और छात्रा इशिता के परिजनों की तहरीर पर स्कूल प्रबंधन व स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया गया है ।


बरहाल पूरे मामले को लेकर पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा होता दिखाई दे रहा है कि आखिर पुलिस के अधिकारियों ने बिना जांच किए दोनों पक्षों पर अलग अलग दो मुकदमा लिख कर क्या साबित करने में लगे है ।और अब पुरानी रंजिश का शिकार हुई मासूम छात्रा की पढ़ाई चौपट होती नजर आ रही है और जहां छात्रा को स्कूल में होना चाहिए वह अब पुलिस थाने के इर्द-गिर्द नजर आने लगी है ।

No comments:

Post a Comment