वाराणसी - अब संसद में गर्माएगा BHU का मुद्दा, 18 दिन तक छात्र दे चुके हैं धरना - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 4 January 2019

वाराणसी - अब संसद में गर्माएगा BHU का मुद्दा, 18 दिन तक छात्र दे चुके हैं धरना

कैलाश सिंह विकाश ब्यूरो वाराणसी


वीसी और डीएम के आश्वासन पर स्थगित हुआ था छात्रों का धरना। अब सपा सांसद संसद में उठाएंगे मसला। वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की चीफ प्रॉक्टर प्रो रोयाना सिंह का मसला अब संसद में उठेगा। उन्हें हटाने की मांग को लेकर 18 दिन तक धरना देने वाले छात्रों ने कुलपति और डीएण के आश्वासन पर धरना स्थगित भले कर दिया हो पर उन्होंने हार नहीं मानी है। यह मसला उन्होंने संसद तक पहुंचाने में सफलता पा ली है।

 
बता दें कि समाजवादी छात्र सभा की बीएचयू इकाई के अध्यक्ष आशुतोष सिंह के नेतृत्व में विभिन्न छात्र संगठनों के प्रतिनिधियों ने केंद्रीय कार्यालय के सामने 18 दिन तक धरना दिया था। उनकी एक ही प्रमुख मांग थी चीफ प्रॉक्टर प्रो रोयाना सिंह को हटाने की। धरने के दरौन विभिन्न शिक्षकों ने भी छात्रों का समर्थन किया था। कुछ शिक्षकों ने यहां तक कहा था कि उनके प्रति भी चीफ प्रॉक्टर का रवैया ठीक नहीं है। फिर डीएम सुरेद्र सिंह भी गए थे छात्रों को मनाने, उन्होंने वादा किया था कि विश्वविद्यालय प्रशासन और छात्र नेताओं के बीच वार्ता करा कर समस्या का हल निकाला जाएगा। वीसी प्रो राकेश भटनागर ने भी छात्रों से समस्या के समाधान का वादा किया था। इसके लिए महीने भर की मोहलत मांगी थी।

यहां यह भी बता दें कि बिना मान्यता के चल रहे नर्सिंग कोर्स के छात्र-छात्राओं ने जब आंदलोन शुरू किया था तो चीफ प्रॉक्टर ने अपनी टीम के साथ उन्हें मारा-पीटा था। घसीट-घसीट कर छात्राओं के धरना स्थल से हटाया गया था। एक छात्रा की इस तरह पिटाई की गई कि उसके कान का पर्दा फट गया। यह दीगर है कि इस मुद्दे पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने तर्क दिया कि उसके कान में पहले से दिक्कत थी। इतना ही नहीं जब छात्र-छात्राओं ने लंका थाने पर तहरीर दे कर मुकदमा दर्ज कराने की कोशिश की और आंदोलन बढ़ता गया तो चीफ प्रॉक्टर ने रिश्तेदार को पीड़ित छात्रा के घर भेज कर सुलह का दबाव बनाया था।

यह मसला अब संसद तक पहुंचने को है। समाजवादी छात्र सभा की बीएचयू इकाई के अध्यक्ष आशुतोष सिंह के नेतृत्व में छात्रों का प्रतिनिधिमंडल अब दिल्ली पहुंच कर सपा सांसद धर्मेंद्र यादव से मिला। उन्हें विस्तार से सारी जानकारी दी। आशुतोष ने मीडिया से हुई टेलीफोनिक वार्ता में बताया कि सांसद यादव ने छात्रों को आश्वस्त किया है कि यह मसला संसद में उठाएंगे। इसका निदान संसद से कराएंगे।

No comments:

Post a Comment