कानपुर - प्यार के पापड़ रूढ़िवादी विश्वासों के खिलाफ संघर्ष की एक कहानी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 21 January 2019

कानपुर - प्यार के पापड़ रूढ़िवादी विश्वासों के खिलाफ संघर्ष की एक कहानी

ब्यूरो कानपुर - रवि गुप्ता 
 
स्टार भारत पर 21 जनवरी को शुरू होने वाले आगामी शो 'प्यार के पापड़'  जो प्रश्न और सामाजिक रूढ़ियों को तोड़ता है,  'प्यार के पापड़' के लॉन्च के साथ शो के अपने गुलदस्ते का विस्तार करने के लिए तैयार है। इस शो की शूटिंग के कुछ पार्ट कानपुर में शूट किया गया है जहां कनपुर की झलक में कनपुरियों को रिझाएगी।


 
यह प्यार के पापड़ शो आपको भावनाओं, हंसी, प्यार और रूढ़िवादी विश्वासों के खिलाफ संघर्ष की एक रोलर-कोस्टर की सवारी पर ले जाता है। इस कहानी में चरित्र ओमकार की यात्रा का वर्णन करता है जो त्रिलोकीनाथ को समझाने की कोशिश कर रहा है क्योंकि वह अपनी बेटी शिविका से शादी करना चाहता है। त्रिलोकीनाथ को लगता है कि ओमकार कभी भी अपने मानकों से मेल नहीं खा सकता है और इसलिए शिविका से उसकी शादी नहीं करना चाहता है। शो का  प्रोमो ओमकार के खिलाफ त्रिलोकीनाथ के मजबूत नेतृत्व वाले स्वभाव पर आधारीत है बॉलीवुड के प्रतिष्ठित दृश्यों को फिर से बनाना, शो का पहला रूप पिता और भावी दूल्हे के बीच एक मधुर, अभी तक का दिलचस्प टकराव देखने को मिलेगा। शो अपनी शुरुआत के बारे में उत्साहित, ओमकार की भूमिका निभाने वाले अक्षय कहते हैं, "मैं वास्तव में पापड़ के लिए उत्साहित हूं। मैंने ओमकार के चरित्र के लिए अपने दिल और आत्मा को दिया है। मेरे प्रशंसक प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा कर रहे हैं। स्वरा उर्फ ​​शिविका आगे ने कहा कि “मुझे शिविका के चरित्र से बहुत प्यार है क्योंकि हम दोनों एक ही सिक्के के अलग-अलग पहलू हैं। मैंने अब तक के अनुभव को पसंद किया है और भविष्य में भी ऐसा करने की उम्मीद कर रही हूं। प्यार के पापड़ की पहली झलक 21 जनवरी को केवल स्टार भारत पर प्रसारित की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।