कानपुर देहात -30वाॅ सडक सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 8 February 2019

कानपुर देहात -30वाॅ सडक सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ

जिला संवाददाता -अरविन्द शर्मा 
कानपुर देहात

30वाॅ सडक सुरक्षा सप्ताह दिनांक 4 फरवरी से 10 फरवरी तक कार्यक्रम किये जा रहे कार्यक्रम के तहत अकबरपुर के डा0 भूपति सिंह स्कूल में जिलाधिकारी ने कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जलित व मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर शुभारंभ किया। कार्यक्रम में सडक सुरक्षा संबंधी नुक्कड नाटक व बेटी बचाव बेटी पढ़ाओं के कार्यक्रम का भी बच्चों द्वारा आकर्षक प्रस्तुति की गयी। 
 
 
 जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए बच्चों से कहा कि अपने पिता, भाई, चाचा, ताऊ आदि से कहे कि जब भी मोटर साइकिल व चार पहियावान लेकर घर से निकले तो उन्हें हेलमेट व सील्ट बेट लगाने को कहे। उन्होंने जनपदवासियों से आवहन करते हुए  कहा कि यातायात नियमो को जाने तथा उनका पालन खुद करें, अपने परिजन व दूसरो को भी कराये। उन्होने युवाओ से कहा कि यात्रा के बड़े दुश्मन शराब, तेज रफ्तार, मोबाईल फोन और अधिक भार है। उन्होने कहा कि यातायात नियमो और संकेतो का पालन करे। चढ़ाई चढ़ने वाले वाहन को पहले रास्ता दे। ओवर टेकिंग न करे तथा अपने लाईन से चले। दोपहिया वाहन चालक हमेशा हेलमेट जरूर पहने तथा सभीजन सुरक्षित यात्रा के मूल मंत्र यातायात नियमो का पालन करे व दुर्घटना से बचे। जिस व्यक्ति के साथ दुर्घटना हो जाती है उस व्यक्ति के परिवार पर क्या बीतती है उसका पूरा परिवार टूट जाता है हम लोग ज्यादा से ज्यादा संवेदना व्यक्त कर देते है। उन्होने कहा कि यातायात नियमो का पालन कर अपने तथा अपने सह-यात्रियो की जान माल की सुरक्षा करे तथा अपना बहुमूल्य जीवन बचाए व चैराहा पार करते समय टैªफिक संकेत को देखे तथा पास मिलने पर ही रास्ता तय करे। 
 
 
जिलाधिकारी ने कहा कि दो पहिया वाहन पर चालक के अतिरिक्त एक से अधिक व्यक्तियो का बैठना वर्जित है व नशे की हालत मे वाहन न चलाए तथा वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात न करे। यातायात नियमो का पालन करने तथा रोड पर चलने वाले सभी का भविष्य सुरक्षित है। यातायात नियमो का पालन कर चलना, दुर्घटना से बचना है देश के विकास के साथ ही यातायात के साधनो में भी विकास हो रहा है। प्रत्येक घर में आज कल कोई न कोई वाहन है, अतः यातायात के नियमो की जागरूकता होने के साथ ही उनके नियमो का पालन करना भी जरूरी है। तेज रफ्तार गाड़ी चलाने के साथ ही यह भी देखे कि मेरे बगल में चल रहे अन्य वाहन, बुजुर्ग, साइकिल सवार व पैदल चालक के क्या बीत रही होती है। उन्होने कहा कि हम चैराहो पर लगे लाईट के सिगनल पर पीली बत्ती होने पर लाल बत्ती होने से पूर्व ही प्रायः निकलने के लिए अपनी स्पीड बढ़ा देते है। जबकि यह गलत है, हमे स्पीड रोकने के लिए बे्रक लेना चाहिए। दुर्घटना से बचे सुरक्षा सुनिश्चित करे जीवन बहुमूल्य है, इसकी रक्षा करे। हमारा लक्ष्य सुगम सुरक्षित यात्रा का है। अपने को तथा दूसरो को सुरक्षित रखे इस मनोभाव के साथ यात्रा करंे। जिलाधिकारी ने एडीएम, अपर पुलिस अधीक्षक यातायात, उप जिलधिकारी व क्षेंत्राधिकारियो, एआरटीओ आदि को निर्देश दिए हैं कि वे संयुक्त रूप से क्षेत्रो में भ्रमणकर जनपद में सड़क सुरक्षा सम्बन्धी नियमों का स्वयं भी पालन करें तथा अन्य को भी पालन करना सुनिश्चत कराएं।
 
 
पुलिस अधीक्षक राधेश्याम ने छात्राओं से कहा कि आने वाले रक्षा बंधन में भाईयों के कलाईयों में राखी बाधंते समय चैकलेट की जगह उनसे बचन ले कि हेलमेट लगाये व सील्ट बेल्ट बांध कर ही वाहन चलायेंगे। उन्होंने लोगों से कहा कि सड़क सुरक्षा संबंधी अपनी जिम्मेदारी निभाएं, हेलमेट लगाए, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करे, तेज गति से वाहन न चलाए, नशे की हालत मे वाहन न चलाए, निश्चित सवारी ही गाड़ी मे बैठाए, गलत ढ़ग से ओवरटेक न करे, दुर्घटना से देर भली है। कार्यक्रम हेतु जनपद में बनाये गये सडक सुरक्षा के बेस्टअम्बेस्डर रजत गुप्ता व अनूप सचान ने भी कार्यक्रम में सडक सुरक्षा के कार्यक्रमों की जानकारी दी। इस मौके पर एआरटीओ, जिला सम्भागीय परिवहन अधिकारी, एसडीएम सदर आनन्द कुमार सिंह, कोतवाली प्रभारी, एएमए मणीन्द्र सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी अशोक कुमार, विद्यालय प्रबन्धक आदि अधिकारी व छात्र-छात्रायें, शिक्षक शिक्षिकायें आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment