बजट के आकड़ों का जब आंकलन हुआ तो मैं ,समझता हूँ गरीब की भी आँख खुल गई-अखिलेश यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 3 February 2019

बजट के आकड़ों का जब आंकलन हुआ तो मैं ,समझता हूँ गरीब की भी आँख खुल गई-अखिलेश यादव

 
 
 रिपोर्ट मोबीन मन्सुरी
 
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज एक निजी कार्यक्रम में कन्नौज पहुंचे उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों लेते हुए उनके गंगा स्नान  पर ही सवाल खड़े कर दिए योगी जी को गंगा स्नान तक करना नहीं आता है उन्हें पता नहीं गंगा स्नान कैसे किया जाता है।  

योगी के गंगा स्नान पर तंज - ये गंगा को बड़ी अच्छी तरह देखा हमने नदी को हमें नहाना भी पता है कैसे नहाय जाता है गंगा में अरे कभी मुख्यमंत्री से पूछो स्नान कैसे लिया जाता है गंगा में यह स्नान करने का तरीका है क्या।   
 बजट के आकड़ों का जब आंकलन हुआ तो मैं समझता हूँ गरीब की भी आँख खुल गई और मध्यम वर्गीय की भी आँख खुल गई। यह भारतीय जनता पार्टी के लोग तो ऐसे हैं खुली आँखों से धोखा देते हैं। पता नहीं आंकड़ों से कैसे जादू दिखाते हैं कि लोग उन पर कैसे भरोसा कर लेते हैं।  


 ये सब समाजवादियों की नकल हो रही है याद कीजिये 500 रूपये समजवादी पार्टी दे रही थी समाजवादी पेंशन और इस बार तो एक हजार रुपया मिलने लगता अगर समाजवादी सरकार होती तो वही 500 रुपया और उसी तरह की योजना की नकल करके और बोरी से तो आप जानते होंगे खाद यूरिया और  डीएपी कैसे चोरी हो रही है अगर चोरी का हिसाब निकाल लो 5 5 किलो जो निकाल लिया गया और पैसा उतना ही रखा और दाम उतना ही रखा अगर उसका हिसाब लगाओगे तो आपको महसूस होगा कि किसानों के साथ धोखा हुआ और धोखा जो हुआ जो पैसा इकठ्ठा हुआ उसको ही बापस कर रही है कोई नई चीज नहीं कर रही है। 

हर घर में मंदिर बने हुए हैं कोई घर शायद ही मिले जिसमे मंदिर न होहमारे घर में भी है।  लेकिन देश संबिधान से चलेगा सुप्रीम कोर्ट के फैसले से चलेगा।  किसी को डरा के धमका के नहीं होगा।  क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के पास वचा ही क्या है। 

योगी सरकर द्वारा बनाये जा रहे गंगा एक्सप्रेसवे पर बयान - गंगा साफ हो गयी, गंगा सफाई की नहीं तो गंगा से ध्यान हटाने के लिए गंगा एक्सप्रेसवे  ले आये। और ये गंगा एक्सप्रेस कोण सा है बहुजन समाजपार्टी की सरकार में जो फाइल पर बना था उस फाइल की मिटी हटा कर के ये मुख्यमंत्री जी बाहर ले आये, कि यह एक्सप्रेसवे हम बनाएंगे। 

 हर दल है यहां पर तो दल के कुछ लोग लड़ेंगे हर पार्टी के लोग ऐसा तो है नहीं कि दूसरी पार्टियां नहीं लड़ेंगी। 

No comments:

Post a Comment