मसकनवा गोंडा - दो दिवसीय क्षेत्रीय वालीबाल प्रतियोगिता का फाइनल मैच महुआ बलरामपुर ने जीता - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 18 February 2019

मसकनवा गोंडा - दो दिवसीय क्षेत्रीय वालीबाल प्रतियोगिता का फाइनल मैच महुआ बलरामपुर ने जीता

ब्यूरो गोंडा -सुनील कुमार गौड़

छपिया क्षेत्र के ताबेपुर में चल रहे स्वर्गीय राज किशोर सिंह स्मारक दो दिवसीय क्षेत्रीय वालीबाल प्रतियोगिता का फाइनल मैच महुआ बलरामपुर ने जीता। मैच का मुख्य अतिथि अखिल भारतीय क्षत्रीय महा सभा के जिलाध्यक्ष बृजेश नारायण सिंह और विशिष्ट अतिथि जितेन्द्र प्रताप नारायण सिंह ने लघु माध्यमिक विद्यालय तांबेपुर में खिलाड़ियों से हाथ मिलाकर परिचय लिया। उन्होंने कहा कि खेल से शरीर स्वस्थ रहता और भाईचारा बढ़ता है।पहला सेमी फाइनल पकड़ी बस्ती और जमदा शाही सिद्धार्थनगर के बीच खेला गया। जिसमें पकड़ी बस्ती की टीम ने जमदा शाही को 15- 13, 17-15,11-15 से जीतकर फाइनल में पहुँची।दूसरे सेमी फाइनल में घूरनपुर  और महुआ के बीच खेला गया। जिसमें महुआ ने घूरनपुर को 15 - 12 और 16- 14 से हरा कर फाइनल मेंपहुँची।


प्रतियोगिता का फाइनल मैच पकड़ी बस्ती और महुआ बलरामपुर के मध्य खेला गया। जिसमें दोनों टीमों के खिलाड़ियों बेहद शानदार खेल दिखाया। रोमांचक मुकाबले में महुआ बलरामपुर ने फाइनल मैच 21-19 से जीत लिया। दर्शकों ने खेल का भरपूर आनंद लिया। तालियां बजा कर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया।

मुख्य अतिथि बृजेश नारायन सिंह व विशिष्ट अतिथि जितेंद्र प्रताप सिंह सिंह ने विजेता व उपविजेता टीम के खिलाड़ियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।वॉलीबॉल प्रतियोगिता के आयोजक भोलू सिंह ने मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि को अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर मानस सिंह, बलजीत पटेल, समाज सेवी अरविंद सिंह, पुष्पेश वर्मा, मों मुस्तफा, श्याम बहादुर सिंह, दिनेश सिंह, रेफरी शेषराम भारती, शमसुददीन, सेतू राम, बादशाह यादव, रमेश वर्मा, अतुल तिवारी, दिनेश मिश्रा, राजन सिंह, आदित्य, संजय, सुभाष, राम केवल सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।