वाराणसी - बिलख रही है शहीद रमेश की मां, कहा कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे देश - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 15 February 2019

वाराणसी - बिलख रही है शहीद रमेश की मां, कहा कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे देश

ब्यूरो बनारस -कैलाश सिंह विकास 

 
गुरूवार को श्रीनगर से कुछ किलोमीटर पहले पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकवादी हमले में 42 सीआरपीएफ के जवानों ने भारत मां के मस्तक का श्रृंगार अपने खून से कर दिया। इसी अमर जवानों में से एक थे वाराणसी के चौबेपुर थानाक्षेत्र के तोफापुर के रमेश यादव भी, जो सीआरपीएफ के 25 सौ से अधिक जवानों के साथ श्रीनगर जा रहे थे और इस आतंकवादी हमले में शहीद हो गए।

ये खबर जब रात आठ बजे के करीब रमेश के परिजनों को मिली तो मानों उनके ऊपर पहाड़ टूट पड़ा। गांव के लोगों का सीना गर्व से चौड़ा तो हुआ पर आँखे चुप होने का नाम नहीं ले रहीं थी। हम जब तोफापुर पहुंचे तो रमेश की पत्नी सबसे बस एक ही बात कह रही थी कि हमसे उन्होंने फोन पर कहा था कि तुम घर का ख्याल रखो हम देश का ख्याल रख रहे हैं। अब हम किसका ख्याल रखेंगे।

मां, पत्नी और बहनों के करुण क्रंदन के बीच रमेश का बेटा बस सबको देखकर कभी रो रहा था तो कभी चारों तरफ हसरत से देख रहा था। रमेश की मां ने रोते हुए बताया कि घर पर पूजा थी उसमे शामिल होने के लिए रमेश 6 महीने बाद कुछ दिनों के लिए घर आया था और मंगलवार को ही वापस गया था। हमें क्या पता था कि ऐसा होगा।

रमेश की मां से जब हमने पूछा कि आप क्या चाहती हैं आतंकवादियों के खिलाफ तो साफ़ दिल की इस मां ने साफ़ कहा कि ‘जो आप लोग चाहें साहब’ जैसी कार्रवाई करनी हैं करें हम तो अब अपना बेटा देश को दे ही चुके हैं पर अब और बेटे नहीं। हमें कड़ी से कड़ी कार्रवाई चाहिए।

रमेश के पड़ोसियों ने बताया कि रमेश के बड़े कर्नाटक में दूध का व्यवसाय करते हैं। पिता श्याम नारायण घर पर रहकर खेती किसानी करते हैं। पिटा बेटे की शाहदत की खबर सुनने के बाद से बेहोश थे किसी तरह होश में लाए गए तो गुमसुम से घर की दहलीज़ को निहार रहे थे शायद उनके दिल में रमेश के बचपन की कुछ यादें घूम रही थी।

टीम  भारत मां के इन वीर सपूतों को नमन करती हैं। हम सब इस दुखद घडी में शहीद जवानों के परिवारों के साथ हैं।

No comments:

Post a Comment