लोकसभा चुनाव लड़ेंगे राबर्ट वाड्रा?, मुरादाबाद में पोस्टर लगाकर की गई अपील... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 25 February 2019

लोकसभा चुनाव लड़ेंगे राबर्ट वाड्रा?, मुरादाबाद में पोस्टर लगाकर की गई अपील...


मीडिया डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति राबर्ट वाड्रा के पोस्टर मुरादाबाद में चर्चा का विषय बने हुए हैं। जिसमें उन्हें मुरादाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की अपील की गई है। पोस्टर में लिखा हुआ है कि 'राबर्ट वाड्रा जी, मुरादाबाद लोकसभा से चुनाव लड़ने के लिए आपका स्वागत है।'



इस पोस्टर के निवेदक में मुरादाबाद युवक कांग्रेस का नाम लिखा हुआ है। हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि पोस्टर युवक कांग्रेस ने लगाए हैं या नहीं। रॉबर्ट वाड्रा ने राजनीति में आने के दिए संकेत, लिखा- लोगों की सेवा करने को तैयार हूं

पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय राजनीति में उतरने के बाद राबर्ट वाड्रा ने अब राजनीति में आने के संकेत दिए हैं। उन्होंने फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि एक बार जैसे ही उन पर लगे सभी आरोप गलत साबित हो जाएंगे, उसके बाद वह बड़े स्तर पर लोगों के लिए काम करना चाहेंगे। उत्तर प्रदेश से अपने खास लगाव का जिक्र करते हुए वाड्रा ने लिखा कि देश के विभिन्न हिस्सों में महीनों और सालों तक लोगों के बीच काम करने के बाद ऐसा लगता है कि आम जनता के लिए बड़े स्तर पर कुछ करने की जरूरत है। खासतौर पर यूपी में काम करने के बाद ऐसा लगा कि यहां काफी कुछ करना बाकी है। यहां उनकी छोटी सी कोशिश से बड़ा बदलाव लाया जा सकता है। उन्होंने लिखा कि बीते कुछ सालों में सीखे गए अनुभव को यूं ही बेकार होने देना सही नहीं है। 

मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में ईडी की जांच का कर रहे हैं सामना

मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में ईडी की जांच का सामना कर रहे वाड्रा ने राजनीतिक साजिश के तहत खुद को बदनाम किए जाने की बात कही। उन्होंने लिखा कि वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए पिछले कई सालों से विभिन्न सरकारें उन्हें निशाना बनाती रही हैं लेकिन इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। इस दौरान लोगों ने उन पर विश्वास जताया उनका धन्यवाद। उन्होंने लिखा कि दिल्ली और राजस्थान में ईडी की 8-8 घंटे तक पूछताछ से बहुत कुछ सीखा और खुद को मजबूत बनाता रहा। केरल, नेपाल में आई आपदा के दौरान किए गए अपने कामों की तस्वीर भी साझा की। उन्होंने लिखा कि नेत्रहीन विद्यालय, मदर टेरेसा के विचारों और विभिन्न धर्मों के पूजा स्थलों पर जाकर, अनाथालयों में सेवा करने, अस्पतालों, मंदिरों के बाहर भूखे और गरीब लोगों को खाना खिलाने के दौरान बहुत कुछ सीखा।

लोगों के हित में काम करने के लिए मोदी की अनुमति की जरूरत नहीं : खेड़ा
रॉबर्ट वाड्रा लंबे समय से एनजीओ से जुड़े रहे हैं और समाज के लिए काम करते रहे हैं। यह सभी लोगों को कर्तव्य है कि वे अपनी योग्यता के अनुसार लोगों की सेवा करें। ऐसे में क्या वाड्रा को लोगों से जुड़े काम करने के लिए मोदी की अनुमति की जरूरत पड़ेगी?

No comments:

Post a Comment