उन्नाव - रोड नहीं तो वोट नहीं ..... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 8 March 2019

उन्नाव - रोड नहीं तो वोट नहीं .....


रिपोर्ट - विशाल सिंह

जहाँ एक ओर सरकार विकास की गंगा बहा रही हैं वही कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी हजारों लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए भी संघर्ष कर रहे हैं। सरकार विकास के लाख दावे कर रही फिर भी आज ग्रामीण क्षेत्र विकास से कोसो दूर है। ग्रामीणों के सब्र का बांध टूट गया जिसके चलते आगामी चुनाव का विरोध करने के लिए खुलकर सामने आ गये। गांव के बाहर 'रोड नहीं तो वोट नहीं' का बैनर लगा कर अपना विरोध जाहिर कर रहे है। ग्रामीणों ने कई बार अधिकारी व जन प्रतिनिधियो को इसकी शिकायत की लेकिन उनके कानों में जु नही रेंगी ।आपको बता दे की उन्नाव जिले के विकासखंड हसनगंज के ग्राम सुंदरपुर के ग्रामीणों ने आगामी चुनाव का किया बहिष्कार कर दिया है साथ ही गांव के बाहर बैनर लगा दिया है की  रोड नहीं तो वोट नहीं के साथ सड़क निर्माण कराने की बात कही ।आज तक कोई राजनीतिक दल व शासन के किसी भी अधिकारी ने इस रोड को पक्की सड़क नहीं करवाया है इस कारण ग्रामीणों में काफी रोष व्याप्त है गाँव के लोग  आज भी कच्चे रास्ते पर चलने पर मजबूर है।जिसके कारण बहुत ही असुविधा का सामना करना पड़ता है,ग्रामीणों का कहना है की यहां के पढ़ने वाले बच्चों को नवाबगंज ही जाना पड़ता है बच्चे पढ़ नहीं पा रहे है उनका भविष अन्धकार में जा रहा है क्योकि वो पड़ने लिखने में एक दम असमर्थ है और आने जाने के लिए हम लोगो का कोई रास्ता नही है मेन रास्ता यही एक है इसी से अस्पताल जाना है और इसी से नवाबगंज जाना है इसी स्टेशन पास पड़ता है कुसुम्भी तो मेन रास्ता यही है हमारा दूसरा है जो वो दस किलो मीटर घूम करके है अगर स्कूल बस भी आती है बच्चो को लेने वो भी 600 रुपये भाडा अधिक ले रही है | इसीलिए हम लोगो का कहना है की रोड नहीं तो वोट नहीं |वही जब इस सम्बन्ध में अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जैसा की आपने बताया की विकास खंड हसनगंज के सिंगरापुर गाँव में लोगो ने ये कहा की अगर रोड नहीं बनी तो हम लोग मतदान नहीं करेंगे इसमें सैन्य उच्च अधिकारियो को अवगत कराया जायेगा और जो भी संभव प्रयास होंगे जो भी हम कर सकते है वो पूरा कोशिश की जायेगी और समस्या को तत्काल दूर किया जायेगा |


हमारे गाँव की बच्चिया तो साहब स्कूल जाना ही छोड़ दिया क्योकि आठ किलो मीटर हमारे यहाँ से नवाबगंज पड़ता है और साधन कोई है नहीं तो लडकियाँ तो स्कूल जाना ही छोड़ दिया और जो बच्चे भी है वो भी जाते नहीं है कोई जाता है तो घर में पडा ही रहता है तो सबसे ज्यादा दिक्कत तो हमारे यहाँ बच्चो को है जोकि उनका भविष्य अन्धकार में जा रहा है क्योकि वो पड़ने लिखने में एक दम असमर्थ है और आने जाने के लिए हम लोगो का कोई रास्ता नही है मेन रास्ता यही एक है इसी से अस्पताल जाना है और इसी से नवाबगंज जाना है इसी स्टेशन पास पड़ता है कुसुम्भी तो मेन रास्ता यही है हमारा दूसरा है जो वो दस किलो मीटर घूम करके है अगर स्कूल बस भी आती है बच्चो को लेने वो भी 600 रुपये भाडा अधिक ले रही है |तो ऐसे में किसान आदमी भाडा देगा की बच्चो को पढ़ायेगा क्या करेगा क्या नहीं करेगा हमारी मांग है की हमको रोड चाहिए हमने एक बार नहीं दसियों बार तहसील प्रशासन अन्य स्थानों पर एप्लीकेशन दिया मगर मेरी सुनवाई नहीं हुई एक रोड के लिए अब हम लोगो ने तय किया है की हम लोग वोट नहीं डालेंगे |हाँ मामला संज्ञान में है जैसा की आपने बताया की विकास खंड हसनगंज के सिंगरापुर गाँव में लोगो ने ये कहा की अगर रोड नहीं बनी तो हम लोग मतदान नहीं करेंगे इसमें सैन्य उच्च अधिकारियो को अवगत कराया जायेगा और जो भी संभव प्रयास होंगे जो भी हम कर सकते है वो पूरा कोशिश की जायेगी और समस्या को तत्काल दूर किया जायेगा |

No comments:

Post a Comment