वाराणसी - शिवरात्रि पर्व पर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था रहेगा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 3 March 2019

वाराणसी - शिवरात्रि पर्व पर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था रहेगा



 कैलाश सिंह विकास ब्यूरो 

 उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्यमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने शिवरात्रि पर्व पर सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने के साथ ही श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों पर गुलाब के पंखुड़ियों की पुष्प वर्षा कराये निर्देश दिया है। उन्होंने  दर्शन के लिए आने वाले साधु-संतो के लिए विशेष व्यवस्था कराये जाने पर विशेष जोर दिया। शिवरात्रि पर्व पर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की तरफ किसी भी अधिकारी एवं वीआईपी सहित कोई भी वाहन नही आ सकेंगे। जिससे दर्शनार्थियों को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए। अभी वाहन मैदागिन पर ही रोके जाएंगे। उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्यमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी शनिवार को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर कार्यालय में अधिकारियों के साथ शिवरात्रि पर्व की तैयारियों के संबंध में आवश्यक बैठक कर रहे थे। शिवरात्रि पर्व पर श्री काशी विश्वनाथ ट्रस्ट का दर्शनार्थियों के लिए संचालित हेल्प डेस्क बंद रहेंगे, लेकिन ऑनलाइन पंजीकरण कार्य होते रहेंगे। मंदिर के आस-पास मजबूत बैरिकेडिंग कराए जाने के साथ ही मैदागिन से बांस फाटक होते हुए गोदौलिया, गोदौलिया से लक्शा तथा मंदिर के आसपास संपूर्ण क्षेत्र को नो गंदगी जोन निर्धारित कर समुचित सफाई व्यवस्था निश्चित कराए जाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित किया। मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने बताया कि श्री काशी वविश्वनाथ मंदिर में शिवरात्रि को शाम 5:00 बजे से 7:00 बजे तक ही वीआईपी दर्शन की व्यवस्था किया गया है। दर्शन करने के लिए आने वाले बीआईपी राजघाट से नाव के द्वारा ललिता घाट आकर कॉरिडोर के रास्ते मंदिर में दर्शन के लिए आएंगे। शिवरात्रि को निकलने वाले शिव बारात के मार्ग में समुचित सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही सफाई व्यवस्था भी सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश दिया। शिवरात्रि पर्व पर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए कतारों में खड़े दर्शनार्थियों को पानी पिलाए जाने की व्यवस्था मंदिर ट्रस्ट की ओर से किए जाने हेतु उन्होंने निर्देश दिया।

No comments:

Post a Comment