उन्नाव - अभिनन्दन की वापसी,पूरी की मन्नत ... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 3 March 2019

उन्नाव - अभिनन्दन की वापसी,पूरी की मन्नत ...

रिपोर्ट - विशाल सिंह

पूरे देश मे पाकिस्तान से अभिनंदन के वापस आने बाद के खुशी का माहौल छाया हुआ है और देश की जनता खुशी का इजहार कर रही है हर तरफ अभिनंदन का ही नाम  सुनने को मिल रहा है यहां तक लोगो ने अभिनन्द की वापसी को लेकर कोई मंदिर में पूजा अर्चना कर रहा था तो मस्जिद में दुआ मांग रहा था ऐसी ही कुछ दुआ और मन्नत का नजारा उन्नाव जनपद के कोतवाली गंगाघाट में देखने को मिला जहाँ सुभाष नगर में रहने वाले दीप नारायण ने मांगी हुई मन्नत के अनुसार लगभग एक किलोमीटर की दंडवत परिक्रमा की उन्होंने अभिनंदन की सकुशल भारत वापसी की मांग रखी थी मन्नत अगर अभिनंदन सकुशल अपने देश आ गया तो वो दंडवत परिक्रमा करेगे और अभिनंदन की भारत वापसी के बाद दीपनारायण ने लगभग एक किलोमीटर की परिक्रमा राजधानी मार्ग पर बने बाला जी मंदिर से निकलकर दुर्गा मंदिर तक का सफर तय किया वही जब इस बारे में उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया कि जब ये पता चला कि अभिनंदन का प्लेन क्रैश हो गया है और पाकिस्तान मे उसे पकड़ लिया गया है तो मैन प्रतिज्ञा की अगर अभिनंदन हमारा राष्ट्र में सुरक्षित आ जायेगा तो हम लेटे लेटे बाबा बजरंग बली मंदिर से दुर्गा मंदिर तक यात्रा करेंगे कल रात में वो जब 24 घंटे में वापस आ गया तो आज हमने अपनी मन्नत के अनुसार बजरंग बली मंदिर से लेकर दंडवत करते हुए दुर्गा मंदिर तक परिक्रमा की वही उनकी पत्नी ने बताया कि अभिनंदन जो पायलट छूटा है उसके लिए प्रार्थना की थी मन्नत मांगी थी कि हम परिक्रमा करेंगे लेट के और हमारा देश सुरक्षित रहे इसलिए माँ दुर्गा से प्रार्थना की ।


जब ये पता चला कि अभिनंदन का प्लेन क्रैश हो गया है और पाकिस्तान मे उसे पकड़ लिया गया है तो महामाई के आशीर्वाद से मैन प्रतिज्ञा की अभिनंदन हमारा राष्ट्र में सुरक्षित आ जायेगा तो हम लेटे लेटे बाबा बजरंग बली मंदिर से दुर्गा मंदिर तक यात्रा करेंगे कल रात में वो जब 24 घंटे में वापस आ गया तो आज हमने अपनी मन्नत के अनुसार बजरंग बली मंदिर से लेकर दंडवत करते हुए दुर्गा मंदिर तक परिक्रमा की और ये बाबा से और महामाई से आशीर्वाद मांगा की हमारा देश हमारे देश के सैनिक सकुशल रहे और हमारा देश उन्नति करें अभिनंदन जो पायलट छूटा है वो उसके लिए प्रार्थना की थी मन्नत मांगी थी कि हम परिक्रमा करेंगे लेट के और हमारा देश सुरक्षित रहे इसलिए माँ दुर्गा से प्रार्थना की

No comments:

Post a Comment