राहुल हिंदू आतंकवाद की बात करते हैं, मगर हम सदभाव के लोग हैं... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 5 April 2019

राहुल हिंदू आतंकवाद की बात करते हैं, मगर हम सदभाव के लोग हैं...

महेन्द्र मिश्रा ब्यूरो

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को मुरादाबाद में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रधर्म सबसे बड़ा धर्म है। यह देश रहेगा तो हम सबका अस्तित्व रहेगा। कांग्रेस देशद्रोह को समाप्त करने की बात कर रही है। अगर राहुल का वश चले तो वे कश्मीर के पत्थरबाजों को भत्ता देने लगें। कांग्रेस का दस्तावेज आईएसआई का दस्तावेज है। उन्होंने कहा कि सरकार रहे या न रहे, देश रहना चाहिए। कांग्रेस ने कभी जनता के बारे में नहीं सोचा। राहुल भारत के लोगों से खतरा बताते हैं। आतंकियों से उन्हें कोई खतरा नहीं है। राहुल हिंदू आतंकवाद की बात करते हैं। हम सदभाव के लोग हैं।मुरादाबाद के तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में प्रबुद्धजनों के साथ संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा आतंकियों के संरक्षक हैं। वो वोट के लिए अब यहां मंदिर-मंदिर भटक रहे हैं जबकि यूपीए सरकार में राम व श्रीकृष्ण न होने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा को वोट दें, तो हमे लगता है कि ये देश की साथ गद्दारी है।


 योगी जी ने कहा कि हम सभी लोग राष्ट्रीय भावना से जुड़े हैं। योगी जी ने केरल के एक पूर्व मुख्यमंत्री के बयान को याद करते हुए कहा कि उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था, भारत अलग-अलग राष्ट्रीयता का देश है। भारत में भले ही जाति, वेशभूषा अलग हों लेकिन जब एक दिखता है तो हमें गर्व होता है। हम लोगों ने महिला सुरक्षा के लिए काम किया है। आज महिलाओं को सम्मान मिल रहा है। यहां उन्होंने उज्ज्वला समेत कई योजनाओं का जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी ताकत राष्ट्रधर्म है। देश रहेगा तभी हम सबका अस्तित्व रहेगा। सभी को अपने मन में यह ख्याल रखना है। उन्होंने कहा कि राहुल ने नामांकन में देश के फ्लैग का इस्तेमाल नहीं किया क्योंकि मुस्लिम लीग उनके साथ थी। हरा फ्लैग इस्तेमाल किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज विदेशी हमें गर्व से देखते है। आने वाले तीन साल में भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। कैराना और कांदला को बर्बाद करने की धमकी देने वाले लोग प्रदेश से पलायन कर चुके हैं। कैराना और कांदला आज शांत है। टीसीएस के प्रदेश से जाने पर रतन टाटा से सीधे बात की। उन्हें आश्वासन दिया वह मान गए। पहली जीत यहीं से शुरू हो गई। सैमसंग ने अपना फैसला वापस लिया है। हमने फोकस सेक्टर की पॉलिसी बनाई है। मायावती सुप्रीम कोर्ट में कहती हैं कि अयोध्या में भगवान श्रीराम की मूर्ति लग सकती है, तो उनकी क्यों नहीं लग सकती है। मैं बताना चाहता हूॅ कि अयोध्या में सरकार के पैसे से भगवान श्रीराम की मूर्ति नहीं लग रही है, बल्कि वहां जनता का पैसा लग रहा है।

No comments:

Post a Comment